शुक्रवार, 20 जनवरी 2012

जनोन्मुखी पत्रकारिता का है यह दौर: प्रदीप सौरभ


from Acharya Sushil gangwar's blog

Founder - CEO

Acharya Sushil Gangwar
Phone-09167618866
Emaill- Sushil_gangwar@rediffmail.com

Video




Upcoming events

INTERNATIONAL SEMINAR on Teacher Education for Peace and Harmony
INTRODUCTION The world has recently seen a nuclear disaster during the Tsunami in Japan, pol
Dr. Surendra pathak · Feb 11, 09:00AM


रोहतक : आज का समय जनोन्मुखी पत्रकारिता (प्रो पीपल जनर्लिज्म) का है। वैश्विक स्तर पर और राष्ट्रीय स्तर पर लोगो में व्यवस्थागत खामियों, कुशासन तथा भ्रष्टाचार के खिलाफ उबाल है, ऐसे में साइबर स्पेस पत्रकारिता के लिए उपयुक्त स्थान है तथा साइबर पत्रकारिता सशक्त माध्यम है। यह कहना है वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप सौरभ का। सोमवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (मदवि) के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में हुए विशेष व्याख्यान कार्यक्रम में प्रदीप सौरभ ने मीडिया के समक्ष वर्तमान चुनौतिया, मीडिया में करियर अवसर तथा विशेष रूप से साइबर पत्रकारिता पर आधारित विशेष व्याख्यान दिया।
उन्होंने कहा कि साइबर स्पेस पर पत्रकारिता का दायरा बढ़ रहा है। इस माध्यम की विशेषता है इसमें स्थानीय तथा वैश्विक दोनों के बारे लिखने की पूरी गुंजाइश है। साथ ही सामाजिक एवं सास्कृतिक सरोकारों की बात कहने के लिए भी साइबर पत्रकारिता मंच प्रदान करता है। सृजनात्मक अभिव्यक्ति के दृष्टिकोण से भी साइबर स्पेस एक बेहतरीन विकल्प है। साइबर पत्रकारिता को वैकल्पिक पत्रकारिता माध्यम करार देते हुए प्रदीप सौरभ ने विभाग के विद्यार्थियों से न्यू मीडिया से जुड़ने का आह्वान किया। उन्होंने विद्यार्थियों से ब्लागिंग करने की सलाह दी। साइबर पत्रकारिता में सफलता हासिल करने के लिए जरूरी टिप्स भी प्रदीप सौरभ ने विद्यार्थियों के साथ साझा किए। विकीलिक्स के रहस्योद्घाटन को इस क्षेत्र का महलवपूर्ण मील का पत्थर करार दिया। व्याख्यान के बाद सवाल-जवाब का सत्र चला। विद्यार्थियों ने मीडिया में कैरियर, पेड न्यूज, मीडिया का व्यवसायीकरण, वेब पत्रकारिता, विषम परिस्थितियों या संघर्ष के समय रिपोर्टिग, ज्वलंत सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर प्रश्न पूछे।
कार्यक्रम के प्रारभ में प्राध्यापक सुनित मुखर्जी ने व्याख्यान थीम की पृष्ठभूमि रखी तथा अतिथि वक्ता का परिचय दिया। विभागाध्यक्ष डॉ. सरोजनी नादल ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने कहा कि इस इटरेक्शन से विद्यार्थीगण लाभान्वित होंगे। प्राध्यापिका सुमेधा धनी ने विद्यार्थियों से मीडिया क्षेत्र में प्रवेश के लिए उचित तैयारियों की बात कही। प्राध्यापक डा. देव व्रत सिंह ने न्यू मीडिया में कैरियर अवसर बारे बताया। वरिष्ठ प्राध्यापक प्रो. हरीश कुमार ने सभी का आभार जताया। व्याख्यान कार्यक्रम में विभाग के प्राध्यापकों के अलावा जीबी डिग्री कालेज के प्राध्यापक योगेश कुमार, विभाग के शोधार्थी एवं विद्यार्थी, जीबी डिग्री कालेज तथा जाट महाविद्यालय के पत्रकारिता पाठयक्रम के विद्यार्थी मौजूद रहे। 
साभार : दैनिक जागरण

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें