बुधवार, 21 दिसंबर 2011

संचार और सूचना प्रौद्योगिकी

संचार और सूचना प्रौद्योगिकी

यह पृष्‍ठ अंग्रेजी में (बाहरी विंडो में खुलने वाली वेबसाइट)


इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी, उत्पादन और निर्यात दोनों के संदर्भ में भारतीय उद्योग के सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्र हैं। एयरोस्पेस और रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स को अपवादस्वरूप छोड़ दें तो आज इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग के लिए लाइसेंस की जरूरत नहीं रह गई है। विदेशी निवेश में उदारीकरण और पूरी अर्थव्यवस्था की आयात निर्यात नीति के साथ यह क्षेत्र विशाल बाजार के रूप में न केवल संभावित रूचि आकर्षित कर रहा है बल्कि अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के लिए संभावित उत्पादन आधार है।
हाल के समय में, 'सॉफ्टवेयर विकास और आईटी सक्रिय सेवा' वैश्विक संदर्भ में भारत के लिए आला अवसर के रूप में उभरी है। सरकार भारत को वैश्चिक सूचना प्रौद्योगिकी की महाशक्ति और सूचना क्रांति के युग में अव्वल बनाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है। सरकार ने देश की शीर्ष पांच प्राथमिकताओं के रूप में सूचना प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने की घोषणा की है और सूचना प्रौद्योगिकी तथा सॉफ्टवेयर विकास पर राष्ट्रीय कार्यबल का गठन किया है।


स्रोत: राष्‍ट्रीय पोर्टल विषयवस्‍तु प्रबंधन दल, द्वारा समीक्षित: 29-04-2011


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें