गुरुवार, 15 दिसंबर 2011

मोबाइल टीवी


मुक्त ज्ञानकोष विकिपीडिया से

दक्षिण कोरिया में डीएमबी (डीएमबी)
मोबाइल टीवी का मतलब आमतौर पर हाथ में लिए जा सकने वाले एक छोटे उपकरण से टेलीविजन देख्रना है. यह मोबाइल फोन नेटवर्कों पर प्रसारित होने वाले भुगतान टीवी प्रसारण या नियमित प्रसारण या एक विशेष मोबाइल टीवी ट्रांसमिशन प्रारूप के जरिये स्थलीय टेलीविजन स्टेशनों के माध्यम से मुफ्त प्राप्त की जाने वाली हो सकती है. कुछ मोबाइल टेलीविजन इंटरनेट से टीवी शो भी डाउनलोड कर सकते हैं, जिनमें रिकार्ड किये गये टीवी कार्यक्रम और पॉडकास्ट (रेडियो प्रसारण) भी शामिल हो सकते हैं, जिन्हे बाद में देखने के लिए मोबाइल डिवाइस पर डाउनलोड और संग्रहित किया जाता है.
जेब के आकार का पहला मोबाइल टेलीविजन जनवरी 1977 में क्लाइव सिंक्लेयर द्वारा सार्वजनिक रूप से बेचा गया था. इसे माइक्रोविजन या एमटीवी-1 कहा जाता था. इसका 2 इंच का सीआरटी स्क्रीन था और यह पहला टेलीविजन था, जो विभिन्न देशों में संकेतों को पकड़ सकता था [1][2]

अनुक्रम

 [छुपाएँ

[संपादित करें] इतिहास


MTV-1 दुनिया का सबसे पेहला पाकेट साइज़ टी वी था 1977 में पहली बार बिका था CRTके लिए यह बहुत ही छोटा था हलाकि इसकी विशेषतायें एक नियमित टी वी से बेहतर थी.एक स्टेनलेस स्टील टेलेस्कोपिक एरियल के साथ एक काला आयताकार उपकरण.अंत पर एक छोटे ग्रे स्क्रीन और विभिन्न रंग के बटन और डायल है.
पहली पीढ़ी के टेलीविजन इतने छोटे थे कि जेब के अंदर समा जाते थे, लेकिन एमटीवी-1 या (माइक्रोविजन) जनवरी 1977 में क्लाइव सिंक्लेयर द्वारा जनता को उपलब्ध कराया गया. इसका 2 इंच का सीआरटी स्क्रीन था और यह पहला टेलीविजन था, जो विभिन्न देशों में संकेतों को पकड़ सकता था. इसका आकार 102x159x41 मिमि मापा गया था और यह ब्रिटेन में 100 पौंड से भी कम में और अमेरिका में 400 डॉलर के आसपास कीमत में बेचा गया. इस परियोजना के विकास में 10 साल लगे और यह ब्रिटिश सरकार के करीब 1600000 पौंड के अनुदान द्वारा वित्त पोषित था.[1][2]
मोबाइल टीवी 3जी फोनों द्वारा प्रदान की जाने वाली सुविधाओं में से एक है. 2005 में, दक्षिण कोरिया मोबाइल टीवी की सुविधा वाला दुनिया का पहला देश बन गया, जब इसने 1 मई और 1 दिसंबर को क्रमशः उपग्रह डीएमबी (एस-डीएमबी) और स्थलीय डीएमबी (टी-डीएमबी) सेवाएं शुरू की. आज दक्षिण कोरिया औरजापान इस क्षेत्र के विकास के मामले में सबसे आगे हैं[3] मार्च 2006 को हांगकांग में सीएसएल ऑपरेटर द्वारा 3-जी नेटवर्क पर मोबाइल टीवी सेवाएं शुरू कीं.[4] यूनाइटेड किंगडम के बीटी दक्षिण कोरिया के बाहर की कुछ उन कंपनियों में से थी, जिसने सितंबर 2006 में पहली बार मोबाइल टीवी सेवा शुरू की, हालांकि बाद में एक साल से भी कम समय में इसे छोड़ दिया गया.[5] वही जर्मनी के "एमएफडी मोबाइल्स फर्नसेहेन ड्यूट्स्चलैंड" के साथ हुआ, जिसने जून 2006 में जर्मनी में अपनी डीएमवी-आधारित सेवा शुरू की और अप्रैल 2008 में इसे बंद कर दिया.[6] जून 2006 में भी इटली में मोबाइल ऑपरेटर 3 (हचिसन वामपोआ का एक हिस्सा) ने अपनी मोबाइल टीवी सेवा शुरू की, लेकिन जर्मनी की उसकी समकक्ष कंपनी द्वारा इसका विरोध किया गया, क्योंकि यह डीवीबी-एच पर आधारित थी.[7] स्प्रिंट ने फरवरी 2006 में सेवा की पेशकश शुरू कर दी और यह सेवा की पेशकश करने वाला पहला अमेरिकी वाहक था. अमेरिका में वेरिजन वायरलेस और बिल्कुल हाल में एटी एंड टी इस सेवा की पेशकश कर रही है.
  • संपादित करें: पैनासोनिक टी.आर.001 उत्पादन में पहली जेबी आकार का टेलीविजन था, जो 1970 में खरीद के लिए उपलब्ध था. पैनासोनिक का आकार लगभग 6.25 x 3.90 x 1.85 इंच है. मैनें 1970 में नया सेट खरीदा. सिंक्लेयर एमटीवी-1 1977 में शुरू किया गया और इसका आकार 4 x 6 1/4 x 1 5/8 इंच या 102x159x41 मिमि था. सोनी एफडी-210 उत्पा‍दित होने वाला पहला फ्लैट सीआरटी पोर्टेबल टीवी था. (देखें विंटेज माइक्रो टेलीविजन http://www.visions4.net/journal/time-line/)

[संपादित करें] समीक्षा

मोबाइल टीवी एक सेवा है, जो सेल फोन मालिकों को एक सेवा प्रदाता से उनके फोन पर टीवी देखने की अनुमति देता है. टेलीविजन डाटा या तो मौजूदा सेलुलर नेटवर्क या प्रोपराइटी नेटवर्क के जरिये प्राप्त किया जा सकता है.
दक्षिण कोरिया में, मोबाइल टीवी मोटे तौर पर उपग्रह डीएमबी (एस-डीएमबी) और स्थलीय डीएमबी (टी-डीएमबी) के रूप में विभाजित है. हालांकि एस-डीएमबी में शुरू में अधिक सामग्री थी, लेकिन टी-डीएमबी को ज्यादा व्यापक लोकप्रियता हासिल हुई, क्योंकि यह मुफ़्त है और इसमें आज देश मे बेचे जाने वाले ज्यादातर मोबाइल हैंडसेटों की एक सुविधा शामिल है.
मोबाइल टीवी भारत में भी उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध है. बीएसएनएल ने भारत के अपने पूर्वी और उत्तर पूर्वी क्षेत्रों के लिए इस सुविधा की शुरुआत की. 2007 में इसने भी "आईसी" नाम से एक मोबाइल टीवी सेवा का शुभारंभ किया. आज, आईसी न केवल 4 बीएसएनएल क्षेत्रों में, बल्कि पूरे भारत में (रिलायंस और टाटा इंडिकॉम सीडीएमए सेवाओं को छोड़कर) अन्य नेटवर्कों के लिए उपलब्ध है. कोई भी व्यक्ति स्ट्रीमिंग में सक्षम हैंडसेटों का उपयोग कर अपने मोबाइल पर साधारण एसएमएस "आईसी" 57575 नंबर पर भेजकर या http://www.isee.co.in पर और अधिक जानकारी के लिए लॉग ऑन कर इस एप्लीकेशन के डब्ल्यूएपी संस्करण को डाउनलोड कर सकता है या वहां तक पहुंच हासिल कर सकता है.

[संपादित करें] चुनौतियां

  • उपकरण निर्माता की चुनौतियां
1. 1. बिजली की खपत: मोबाइल पोर्टेबल उपकरणों के लिए बैटरी प्रौद्योगिकी एक प्रतियोगिता की स्थिति का शिकार हो सकता है. उन्नत मोबाइल सामग्री और बढ़े हुए कार्यों के द्वारा विकसित बैटरी जीवन का इस्तेमाल किया जा सकता है. हालांकि, डैशटॉप मोबाइल उपकरणों को वाहन के 12 वोल्ट की बैटरी द्वारा शक्तिकृत किया जा सकता है, हालांकि वाहन की बैटरियां मोबाइल उपकरणों के लिए शक्ति का स्थायी स्रोत नहीं हो सकतीं.
2. स्मृति (मेमोरी): मोबाइल टीवी की उच्च बफर आवश्यकताओं के समर्थन के लिए वर्तमान उपलब्ध स्मृति क्षमताएं लंबे समय तक मोबाइल टीवी देखने के लिए अनुकूल नहीं होंगी. इसके अलावा, मोबाइल फोनों और उपभोक्ता प्रसारण में पीयर-टू पीयर वीडियो शेयरिंग जैसे भविष्य के संभावित अनुप्रयोगों की बढ़ती हुई मेमोरी जरूरतों को पूरा करने के लिए इससे जोड़ना होगा. वर्तमान पी2पी एल्गोरिदम (निदानमूलक ऑपरेशन) मोबाइल उपकरणों के लिए पर्याप्त नहीं होंगे, जिससे मोबाइल पी2पी एल्गोरिदम के आगमन की जरूरत होगी. अभी तक एक शुरुआती प्रौद्योगिकी है, जो मोबाइल पर अपनी पी2पी मोबाइल के लिए पेटेंटयोग्यता का दावा करती है, लेकिन अभी तक इसने उपकरण निर्माताओं का ध्यान नहीं खींचा है.
3. उपयोगकर्ता इंटरफेस डिजाइन: बहुत सारे मोबाइल फोन मोबाइल टीवी का समर्थन नहीं करते और उपयोगकर्ताओं को वैसे विकसित एलसीडी डिसप्ले और यूजर इंटरफेस वाले नए हैंडसेट खरीदने होते हैं, जो मोबाइल टीवी का समर्थन करते हैं. इस नई डिजाइन को आखिरी पायदान वाले उपयोगकर्ताओं के लिए आकर्षक होना चाहिए और हैंडसेट को बहुत भारी बनाये बिना छवियों की स्पष्टता में वृद्धि होनी चाहिए. उपयोगकर्ताओं के लिए चौड़े एलसीडी टचस्क्रीन ज्यादा पसंद किये जायेंगे और संयुक्त राज्य अमेरिका में आईफोनों की लोकप्रियता इसके प्रशंसित साक्ष्य का हिस्सा है.
4. प्रसंस्करण शक्ति: उपकरण निर्माताओं को प्रसंस्करण शक्ति में काफी सुधार करना चाहिए, ताकि मोबाइल टीवी जैसे एमआइपीएस इंटेंसिव एप्लीकेशन को समर्थन मिल सके.
  • सामग्री प्रदाता की चुनौतियां
मोबाइल टीवी उद्योग मोबाइल टीवी के लिए खास तौर पर बनाई गई सामग्री के लिए एक नया बाजार खोलता है. इनमें नये मोबीसोड-लोकप्रिय कार्यक्रमों की मोबाइल कड़ियां, जो अपेक्षाकृत लंबाई में छोटी (3 से 5 मिनट तक की) लंबाई हों और मोबाइल टीवी हेतु सामग्री को संशोधित किया गया हो.

[संपादित करें] डिजिटल टीवी

[संपादित करें] उत्तरी अमेरिका

साँचा:Coat rack
उत्तरी अमेरिका में मोबाइल टीवी और मोबाइल डिजिटल रेडियो को एक हद तक चुनौती के रूप में लिया गया है, क्योंकि अमेरिकी फेडरल कम्युनिकेशंस कमिशन (एफसीसी) ने नेटवर्क निष्पक्षता के सिद्धांतों के बदले प्रोपराइटरी प्रणालियों के उपयोग का फैसला लिया है. यह कभी-कभी मोबाइल फोन कंपनियों और निर्माताओं और विक्रेताओं के बीच एक खास कंपनी के लिए काम करने (लॉक इन) का विवाद पैदा करता है.[citation needed][weasel words]
एफसीसी डिजिटल टीवी के लिए एटीएससी प्रणाली चुनती है, जो 8वीएसबी मॉड्युलेशन के साथ होती है और यह मोबाइल के ग्रहण करने की क्षमता को मुश्किल बनाती है, क्योंकि यह मल्टीपाथ इंटरफेरेंस (जो मोबाइल के ग्रहण करने की क्षमता के माहौल में तेजी से बदलाव लाती है)के लिए काफी प्रवृत होती है. एटीएससी-एमएच का विकास मोबाइल रिसेप्शन के लिए किया गया है, जो टीवी स्टेशन के ‍नियमित एमपीईजी परिवहन प्रणाली की भीतर रहती है और प्रत्येक स्टेशन के अन्य डिजिटल उपचैनलों और/या एचडीटीवी पर खराब संकेतों की क्षतिपूर्ति के लिए काफी भूल सुधार करती है, जबकि "बिट बजट" से ज्यादा जगह लेती है. डीएबी-टी की तुलना में यहां एलडीटीवी रिसेप्शन की अनुमति हेतु कोई पदानुक्रमित मॉडुलेशन नहीं होता, हालांकि एटीएससी एम/एच में एमपीईजी-4 स्केलेबल वीडियो कोडिंग कोडिंग स्केल में मापने योग्य और रिजोल्युशन और फ्रेम दरों की अनुमति देता है. 2009 के अनुसार  एटीएससी एम/एच के लिए चिपसेट अभी तक उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण में वर्तमान नहीं हैं, लेकिन जल्दी ही एलजी और सैमसंग द्वारा उपयोग चिपसेट का उपयोग किये गये शुरूआती उत्पादो को 2010 सीईएस और एनएबी सम्मेलनों में दिखाया गया.
एफसीसी भी एचडी रेडियो चुनता है, हालांकि यह सीओएफडीएम उपयोग करता है और इसमें उचित मोबाइल रिसेप्शन होता है, जिसमें मोबाइल टीवी के प्रावधान नहीं होते, क्योंकि डीएबी-टी डीएमबी-टी के साथ होता है और यह यहां तक कि पड़ोसी कनाडा के लिए भी असंगत होता है, जहां कना‍डियन रेडियो, टीवी एंड टेलीकम्युनिकेशन्स कमीशन (सीआरटीसी) पहले से ही एल बैंड में डीएबी चुन लेता है. उपग्रह रेडियो के पास प्रणाली के बारे में एफसीसी द्वारा चुनाव किये गये विकल्प का औचित्य नहीं होता. मीडियाफ्लो, जो सीओएफडीएम का भी उपयोग करता है, यूएचएफ टीवी चैनल 55 पर प्रसारित होता है, लेकिन उपग्रह टीवी की तरह इनक्रिप्टेड (शर्त के साथ पहुंच द्वारा ) नियंत्रित (सेल्युलर नेटवर्क के जरिये प्रदान किया हुआ) होता है. इसके अलावा, यह एक सीमित संख्या में सेलफोनों के लिए भुगतान टी वी के रूप में खरीदा जाना चाहिए, जिनमें एटीएंडटी गतिशीलता या वेरिजन वायरलेस फोन सेवा होनी चाहिए.

[संपादित करें] प्रसारण मोबाइल डीटीवी विकास

मीडियाफ्लो टीवी स्पेक्ट्रम का उपयोग करता है और मोबी टीवी सेल फोन नेटवर्क का इस्तेमाल करता है,[8] जबकि "मोबाइल डीटीवी" (एटीएसी-एम/एच) डिजिटल टीवी स्पेक्ट्रम का उपयोग करता है.
अप्रैल 2007 में लास वेगास में नेशनल एसोसिएशन ऑफ ब्रॉडकास्टर्स (एनएबी) के शो में मोबाइल डीटीवी उपलब्ध कराने के लिए एटीएससी और 8वीएसबी तरीकों को दिखाया गया. पिछले साल के शो में सैमसंग और रोहडे एंड स्वार्ज्ड के ए-वी.एस.बी.(उन्नत वी.एस.बी.) दिखाये गये थे. 2007 में, एलजी, जिसका जेनिथ इलेक्ट्रॉनिक्स 8वीएसबी के साथ आया, ने (हैरिस समूह के साथ) अपना मोबाइल-पेडेस्ट्रियन-हैंडहेल्ड (एमपीएच)प्रणाली शुरू की.
चूंकि प्रसारण नेटवर्क ऑनलाइन अपनी सामग्री उपलब्ध कराने लगे थे, मोबाइल डीटीवी स्टेशनों को प्रतिस्पर्धा के लिए कोई दूसरा रास्ता अपनाना था. सिंक्लेयर प्रसारण समूह ने 2006 के अंत में ए-वी.एस.बी.का परीक्षण किया और उसके केवीसीडब्ल्यू और केवीएमवाई एनएबी के शो में मोबाइल डीटीवी उत्पादों का प्रदर्शन में शामिल थे. 2007 के उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स शो में ए-वी.एस.बी. ने बसों में कार्य किया.
आईओएन मीडिया नेटवर्क्स ने चैनल 38 पर, जिसका डिजिटल एलपीटीवी के लिए उपयोग किया जाना था, एकल फ्रिक्वेंसी नेटवर्क (एसएफएन) के उपयोग के लिए एक परीक्षण स्टेशन शुरू किया. कुछ क्षेत्रों में, सभी क्षेत्रों को कवर करने के लिए एक से अधिक टीवी ट्रांसमीटर की जरूरत पड़ेगी.
मोबाइल डीटीवी का उसी समय इस्तेमाल किया जा सकता था, क्योंकि यह एचडीटीवी रिशेप्शन पर बुरा असर नहीं डालता. एक एकल मानक को, हालांकि अभी विकसित किया जाना था.[9]
जनवरी 2009 में उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स शो में एलजी और अन्य निर्माताओं ने पहले प्रोटोटाइप उपकरणों का प्रदर्शन किया गया, जिनमें केनवुड, विस्टियोन और डेल्फी की कारों के लिए रिसिवर्स शामिल थे. यह घोषणा की गई थी कि 22 बाजारों के 63 स्टेशनों में 2009 में इस सेवा की शुरुआत होगी. गैनेट ब्रॉडकास्टिंग के अध्यक्ष डेविड लौगी ने बताया कि बहुत सारे लोग जो बराक ओबामा के उद्घाटन समारोह में हैं, उन्हें सिर्फ सुन सकते हैं, देख नहीं सकते और वहां अगर नई प्रौद्योगिकी होती तो यह समस्या नहीं होती.[10]
अप्रैल 2009 में 800 प्रसारण स्टेशनों से बना द ओपन मोबाइल वीडियो कोआलिशन ने चार परीक्षण स्टेशनों को चुना : अटलांटा में गैनेट के डब्ल्यूएटीएल और आईओएन के डब्ल्यूपीएक्सए-टीवी और सियेटल के फिशर कम्युनिकेशंस के केओएमओ-टीवी और बेलो की केओएनजी-टीवी. डब्ल्यूपीएक्सए ने 1 अप्रैल को मोबाइल डीटीवी प्रसारण शुरू कर दिया. अन्य को मई में शुरूआत करनी थी.[11]
बाद में 2009 में आईओएन ने कहा कि वह न्यूयार्क शहर और वाशिंगटन डीसी में अपनी सहयोगी कंपनियों के उपयोग से एचडीटीवी, स्टैंडर्ड डेफिनेशन और मोबाइल डीटीवी स्ट्रीम्स उपलब्ध करा रहा है. "ट्रिपल प्ले" अवधारणा एक मोबाइल डीटीवी मानक बनाने के प्रयास का एक हिस्सा है. उस समय प्रोटोटाइप रिसीवरों से लैस लोग स्ट्रीम्स को पकड़ने में सक्षम थे.
आईओएन के अध्यक्ष और सीईओ ब्रैंडन बर्गेस ने कहा कि मोबाइल डीटीवी स्टेशनों को "रहने के कमरे से आगे सोचने में सक्षम बनाता है और और उपभोक्ताओं को जीवंत टीवी और वास्तविक समय वाली सूचनाएं प्रदान करने में सक्षम होता है, भले ही व्यक्ति कहीं भी क्यों न हो."[12]
उन्नत टेलीविजन प्रणाली समिति ने मई 2007 में मोबाइल डीटीवी मानकों पर काम शुरू कर दिया और नई तकनीक एक वास्तविकता में बदलने के लिए निर्माताओं और विक्रेताओं जल्दी से काम किया. ओएमबीएस ने सैमसंग और एलजी को मई 2008 एक साथ काम करने के लिए राजी किया, ताकि विभिन्न तरह की प्रणालियों (संभवतः एक आत्म-संहार प्रारूप युद्ध) में देर न हो और तकनीक मरे नहीं.
जुलाई 2009 में शुरू में, एटीएससी प्रौद्योगिकी और मानक समूह ने मोबाइल डीटीवी के लिए एटीएससी- एम/एच मानक को मान्यता दी, जिसे सभी सदस्यों ने 15 अक्टूबर को हरी झंडी दे दी. जनता इन नये उपकरणों का 2010 में उपयोग कर सकती थी, पर सेल फोनों पर टीवी देखना निकट भविष्य में संभव नहीं दिखता, क्योंकि टेलीफोन निर्माताओं ने इस क्षमता को शामिल नहीं किया था. प्रौद्योगिकी का चुनावों, यहां तक कि मतदान के लिए उपयोग किये जाने की उम्मीद की गई थी.[13][14] वर्ष के अंत तक, एटीएससी और कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन ने "एमडीटीवी" जैसे मानक हासिल करने के लिए उत्पादों की पहचान शुरू कर दी.[15]
एनएबी टेलीविजन बोर्ड के चेयरमैन और मेरेडिथ प्रसारण समूह के अध्यक्ष पॉल कारपोविस्ज ने कहा कि
यह मील का पत्थर डिजिटल टेलीविजन प्रसारण के नए युग को निर्देशित करता है, स्थानीय टीवी स्टेशनों और नेटवर्कों को दर्शकों तक पहुंचने के नए अवसर की ओर आगे बढ़ाता है. यह पूरे देश के दर्शकों की नई पीढ़ी को स्थानीय प्रसारण के लिए शक्तिकृत करने की शुरूआत करेगा और उपभोक्ताओं को हर तरह की अहम आपात सावधानी, स्थानीय समाचार और अन्य कार्यक्रमों को प्रदान करेगा.[14]
बाद में जुलाई में वॉशिंगटन डीसी में पहला बहु स्टेशन परीक्षण शुरू हुए, जबकि न्यूयार्क सिटी और उत्तरी कैरोलीना के रालेघ एकल स्टेशनों में पहले से ही मोबाइल डीटीवी की पेशकश की गई थी. ओएमवीसी ने अटलांटा के डब्ल्यूएटीएल और सिएटल ने कांग को "मॉडल स्टेशनों" के रूप में चुना, जहां उत्पाद का परीक्षण हो सकता था. 2009 के अंत तक 28 मीडिया बाजारों ने 70 स्टेशनों की योजना बनाई.
वाशिंगटन परीक्षण में बाल्टीमोर में डब्ल्यूपीएक्सडब्ल्यू-टीवी, डब्ल्यूयूएसए, डब्ल्यूडीसीए, डब्ल्यूआरसी-टीवी, डब्ल्यूएचयूटी-टीवी,डब्ल्यूएनयूवी और डब्ल्यूएनवीटी को एक मल्टीकास्टिंग सेवा मेगाहर्ट्ज नेटवर्क शामिल हैं. सभी स्टेशनों की सेवाओं में "इलेक्ट्रॉनिक सर्विस डेटा गाइड और अलर्ट डेटा " के साथ प्रत्येक के पास दो चैनल ज्यादा होंगे.
इस उपकरण के 20 विक्रेता वर्तमान मानक का उपयोग करते हुए परीक्षण के लिए इन स्टेशनों का उपयोग करेंगे, लेकिन जनता के द्वारा परीक्षण 2010 में होगा, जब बहुत अधिक उपकरण तैयार हो जायेंगे. जाहिर है, बड़ी संख्या में उपकरणों का निर्माण अंतिम मानक के बिना नहीं हो सकता. हालांकि एलजी ने जून में बड़े पैमाने पर चिप्स का विनिर्माण शुरू किया.
आईओएन टेक्नोलॉजी के उपाध्यक्ष ब्रेट जेनकींस ने कहा, "हम वास्तव में 1998 में डीटीवी की प्रारंभिक लांचिंग के स्तर पर हैं. बाजार में अब रिसीव उपकरणों की तुलना में ज्यादा ट्रांसमीटर्स ट्रांसमीटिंग मोबाइल होने वाले हैं और ऐसा आप संभवत: अगले छह से नौ महीनों में देखेंगे.
अंततः इन उपकरणों में यूएसबी डोंगल्स, नोटबुक्स, पोर्टेबल डीवीडी प्लेयर्स और इन-कार डिस्प्लेज शामिल होंगे.[16]
28 जुलाई 2009 को ओएमवीसी के संयोजन में आईओएन के प्रदर्शन में व्हाइट हाउस के अधिकारियों और कांग्रेस के सदस्यों ने ट्रिपल-प्ले अवधारणा देखी.[17][18] 16 अक्तूबर, 2009 को पत्रकारों, उद्योग जगत के अधिकारियों और वाशिंगटन डीसी के आसपास के प्रसारकों के समक्ष प्रोटोटाइप उपकरणों के साथ एक बस में एक दूसरा प्रदर्शन हुआ. इसमें वे भी शामिल किये गये, जो जनवरी 2010 में वॉशिंगटन और बाल्टीमोर बाजारों में उपकरणों का परीक्षण करने वाले थे.[19]
7 अगस्त 2009 को ब्लैकबेरी सर्विस छह टीवी स्टेशनों पर शुरू हुई, इनके नाम हैं-इंडियानापोलिस में विश टीवी, हैंपटन रोड, वर्जीनिया में वावी- टीवी, न्यू मैक्सिको के अलबुराक में केआरक्यूई, इंडियाना के फोर्ट वेन में वेन-टीवी, अल्बामा के मोबाइल में वाला-टीवी, टेक्सास के अस्टिन में केएक्सएएन- टीवी. अंत में 27 अन्य स्टेशनों ने इस सेवा की पेशकश की और ब्लैकबेरी सेवा का विकास करने वाले लिन टीवी ने आईफोन एप्लीकेशन की योजना बनाई.[18] अक्टूबर तक 30 स्टेशनों ने मोबाइल डीटीवी प्रसारण संकेतों को शुरू कर दिया, और साल के अंत तक इनकी संख्या 50 होने की उम्मीद थी. उसी महीने, एफसीसी के चेयरमैन जूलियस गेनाचौस्की ने वायरलेस सेवाओं को स्पेक्ट्रम की राशि बढ़ाने के प्रयासों की घोषणा की.[14]
इसके अलावा अगस्त में, डब्ल्यूटीवीई और एक्सेरा नये मोबाइल मानक का उपयोग की कई ट्रांसमीटरों के साथ सिंगल फ्रिक्वेंसी नेटवर्क(एसएफएन)का परीक्षण शुरू किया. पढ़ने में आरएनएन सहबद्ध पेंसिल्वेनिया ने 2007 से इस अवधारणा का इस्तेमाल किया था.[20]
कैवेल के रिचर्ड मर्ट्ज, मर्ट्ज एंड एसोसिएट्स का कहना है कि वीएचएफ मोबाइल डीटीवी के लिए ठीक से काम नहीं करता, क्योंकि इसके लिए एक 15 इंच का ऐन्टीना या किसी अन्य समाधान की आवश्यकता होगी, हालांकि उन्हें उन लोगों के बारे में भी सुना है, जिन्हें कोई समस्या नहीं थी. स्टेशनों की ट्रांसमीटिंग के लिए एक प्रवर्धित एंटीना या उच्च शक्ति की जरूरत होगी, साथ-साथ जहां क्षेत्र समस्या हैं वहां पुनरावर्तक स्टेशनों की जरूरत होगी.[21]
लौगी, जिनकी कंपनी ने 2010 में अपने 19 बाजारों में परीक्षण की योजना बनाई थी, ने कहा कि नये उपकरणों की चिप डिजाइन का लक्ष्यित विज्ञापन को संभव बनाना था.[19]
दिसंबर 2009 में, कंसेप्ट इंटरप्राइजेज ने ऑटोमोबाइल के लिए पहला मोबाइल डीटीवी ट्यूनर शुरू किया. पहले की इकाइयों के विपरीत, यह तेजी से चलती एक गाड़ी में पिक्सिलेशन (चित्र को पिक्सल में विभाजित कर दिखाने) के बिना एक स्पष्ट चित्र उपलब्ध करायेगा, क्योंकि इसमें एक एलजी एम/एच चिप और छत पर रखा जाने वाला एक इंच का ऐन्टेना का उपयोग होगा. इसके लिए ग्राहक बनने की कोई आवश्यकता नहीं पड़ेगी.[22]
इसके अलावा दिसंबर में ही, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन ने वाशिंगटन, डीसी में एक "प्लगफेस्ट" आयोजित किया, जिससे कि निर्माता विभिन्न परीक्षण कर सकें. विभिन्न देशों के 15 से अधिक कंपनियों और इंजीनियरों ने चार ट्रांसमिशन सिस्टम्स, 12 रिसीवर सिस्टम्स, और चार सॉफ्टवेयर प्रकारों का परीक्षण किया.[15][23]
1 दिसंबर को, न्यूज कॉर्प के अध्यक्ष रूपर्ट मर्डोक ने कहा कि मोबाइल डीटीवी सभी तरह की पत्रकारिता के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण होगी और उन्होंने इस तरह से टीवी और संभवतः अखबार की सामग्री प्रदान करने की योजना बनाई हैं.[24]
जनवरी 2010 के कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो में एनएबी के प्रमुख गोर्डन एच. स्मिथ इस विचार से असहमति जताई कि प्रसारण के दिन अब गिने-चुने हैं और मोबाइल डीटीवी को ओवर-द-एयर का सबूत बताते हुए इसकी लोकप्रियता जारी रहने की बात कही. उन्होंने कहा कि लोग देखने के लिए सेलफोनों और अन्य उपकरणों का इस्तेमाल करते रहेंगे और प्रसारण प्रौद्योगिकी ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका हो जाएगा. वायरलेस ब्रॉडबैंड, जिसे कुछ लोग प्रसारण की जगह लाना चाहते थे, वीडियो सेवाओं की मांग को पूरा करने में सक्षम नहीं होगा.[25] आईओएन के बर्गेस ने पहले आईफोनों में एक दिखाया, जो मोबाइल डीटीवी रीसिव करने में सक्षम थे, जबकि आईओएन के जेनकींस ने एक एलजी मेज और एक वैल्युप्स टिविट दिखाया. इनमें बाद वाला उपकरण आइपॉड टच को संकेत भेजता है और जल्द ही गूगल नेक्सस के साथ काम करना शुरू करेगा.[26]
एडवांस्ड टेक्नोलॉजी के सिन्क्लेयर ब्रॉडकास्ट ग्रुप के निदेशक मार्क एटकेन ने कहा कि कई ट्रांसमीटरों वाले मोबाइल डीटीवी की अवधारणा ग्रामीण क्षेत्रों में वायरलेस ब्रॉडबैंड के लिए स्पेक्ट्रम मुक्त करने में मददगार होगा, लेकिन बड़े शहरों के लिए नही. उन्होंने एफसीसी से यह भी स्पष्ट किया कि मोबाइल डीटीवी सेल फोनों और समान उपकरणों का उपयोग करने वालों के लिए जीवंत वीडियो भेजने का सबसे अच्छा तरीका है.[27]
ओएमवीसी का मोबाइल डीटीवी उपभोक्ता शोकेस 3 मई, 2010 शुरू हुआ और पूरे गर्मी तक रहा. नौ स्टेशन सैमसंग मोमेंट फोन पर 20 कार्यक्रम भेजेंगे, जिनमें केबल कार्यक्रमों के अलावा स्थानीय और नेटवर्क शो रहेंगे. डेल नोटबुक्स और वैल्यूप्स टिविट्स भी प्रोग्रामिंग प्राप्त करेंगे.

[संपादित करें] मोबाइल टीवी मानक

स्थलीय
  • डीवीबी-एच (DVB-H) (डिजिटल वीडियो प्रसारण - हैन्हेल्ड) - यूरोप, एशिया
  • एटीएससी-एम/एच (ATSC-M/H) (एटीएससी मोबाइल/हैन्हेल्ड) - उत्तर अमेरिका
  • टी-डीएमबी (T-DMB) (स्थलीय डिजिटल मल्टीमिडिया प्रसारण) - दक्षिण कोरिया
  • 1सेग (एक अनुभाग) - आईएसडीबी-टी (ISDB-T) पर मोबाइल टीवी सिस्टम
  • मिडियाफ्लो (MediaFLO) - अमेरिका में आरम्भ, जर्मनी और ब्रिटेन में परीक्षण
  • डीएमबी-टी/एच (DMB-T/H) - चीन और हांगकांग
  • डीएबी-आईपी (DAB-IP) (डिजिटल ऑडियो प्रसारण) - ब्रिटेन
  • आईएमबी (iMB) (एकीकृत मोबाइल प्रसारण, 3जीपीपी एमबीएमएस (3GPP MBMS)
उपग्रह
  • डीवीबी-एसएच (DVB-SH) (डिजिटल वीडियो प्रसारण - हैंडहेल्ड्स के लिए सैटेलाइट)
  • एस-डीएमबी (S-DMB) (सैटेलाइट डिजिटल मल्टीमीडिया प्रसारण) - दक्षिण कोरिया
  • सीएमएमबी (CMMB) (चीन मोबाइल मल्टीमीडिया प्रसारण) - चीन
2008 में यूरोपीय संघ ने प्रौद्योगिकी के अन्य संस्करणों के बजाय डीवीबी-एच (DVB-H) / डीवीबी-एसएच (DVB-SH) अपनाया.

[संपादित करें] इन्हें भी देखें

  • हैंडहेल्ड में प्रोजेक्टर
  • मल्टीमीडिया प्रसारण मल्टीकास्ट सेवा (एमबीएमएस (MBMS) के जरिए जीएसएम (GSM) और यूएमटीएस (UMTS) कोशिकीय नेटवर्क
  • आईपी टीवी (IP TV)
  • एसपीबी टीवी (SPB TV)
  • मोबाइल डीटीवी (डीटीवी) एलायंस - विपणन संगठन
  • 3 मोबाइल टीवी (यूके)
  • मोबीक्लिप (Mobiclip)
  • मोबीटीवी (MobiTV)
  • न्युनेट (Nunet)

[संपादित करें] संदर्भ

  1. 1.0 1.1 क्लाइव के उपलब्धियां सिंकलेर रिसर्च
  2. 2.0 2.1 वीडियो और टीवी गियर, Retrothing.com
  3. NYTimes.com के द्वारा याहू! (Yahoo!) वित्त:मोबाइल टीवी स्प्रेडिंग इन यूरोप एंड टू द यू.एस., 6 मई 2008
  4. 3जी ब्रिटेन: गोल्डन दैंमिक्स इंटर प्राइज़ लिमिटेड के "वौएर पोर्टल" पर सेवा आधारित है और 3जीपीपी (3GPP) मानक 3जी-324 एम को अनुगमन करते हैं. 2007 में वही सेवा फिलीपींस में भी फैली थी.
  5. ज़ेडडीनेट (ZDNet): बीटी (BT) ने मोबाइल सेवा को छोड़ दिया, 26 जुलाई 2007
  6. ब्रॉडबैंड टीवी समाचार: एमएफडी (MFD) ने जर्मन को हाथ वापस टी-डीएमबी (T-DMB) लाइसेंस, 1 मई 2008
  7. रजिस्टर: डीवीबी-एच (DVB-H) रॉकेट अहेड इन इटली, 28 जुलाई 2006
  8. Thompson, Mark, “mobile tv cell phone networks:”, Broadcasting & Cable, 2010-06-03। 2010-06-03।[मृत कड़ियां]
  9. Dickson, Glen, “NAB: Mobile DTV Hits the Strip”, Broadcasting & Cable, 2007-04-14। 2009-07-21।
  10. Dickson, Glen, “CES: Broadcasters' Mobile DTV Moment”, Broadcasting & Cable, 2009-01-11। 2009-12-03।
  11. Dickson, Glen, “NAB 2009: Broadcasters Set Mobile DTV Test Markets”, Broadcasting & Cable, 2009-04-20। 2009-12-17।
  12. Dickson, Glen, “ION Broadcasts Mobile DTV in N.Y., D.C.: Hails Its Digital TV "Triple Play"”, Broadcasting & Cable, 2009-06-29। 2009-07-02।
  13. Dickson, Glen, “ATSC-M/H voted to proposed standard status”, Broadcasting & Cable, 2009-07-06। 2009-07-08।
  14. 14.0 14.1 14.2 Dickson, Glen, “Mobile DTV Standard Approved”, Broadcasting & Cable, 2009-10-16। 2009-10-16।
  15. 15.0 15.1 Dickson, Glen, “ATSC Launches Certification Program For Mobile DTV”, Broadcasting & Cable, 2009-12-16। 2009-12-17।
  16. Dickson, Glen, “Special Report: Mobile DTV Heats Up”, Broadcasting & Cable, 2009-07-13। 2009-07-15।
  17. Dickson, Glen, “ION, OMVC Organize DTV Showcase in D.C.”, Broadcasting & Cable, 2009-07-22। 2009-07-22।
  18. 18.0 18.1 Eggerton, John, “LIN TV Develops Blackberry App For Mobile TV Service”, Broadcasting & Cable, 2009-08-07। 2009-08-11।
  19. 19.0 19.1 Eggerton, John, “OMVC Does Mobile DTV Tour”, Broadcasting & Cable, 2009-10-16। 2009-10-23।
  20. Dickson, Glen, “WTVE Tests SFN For Mobile DTV”, Broadcasting & Cable, 2009-12-18। 2010-01-13।
  21. Jessell, Harry A., “Digital VHF Needs A Power Boost”, TVNewsCheck, 2009-09-24। 2009-10-15।
  22. Gilroy, Amy, “First Mobile DTV Car Tuner At $499”, TWICE, 2009-11-09। 2009-11-10।
  23. Dickson, Glen, “Mobile DTV Picks Up Speed”, Broadcasting & Cable, 2009-12-02। 2009-12-03।
  24. Eggerton, John, “Murdoch Says Mobile TV Is Key to Future”, Broadcasting & Cable, 2009-12-01। 2009-12-03।
  25. Dickson, Glen, “CES 2010: Broadcasters Tout Mobile DTV Progress”, Broadcasting & Cable, 2010-01-07। 2010-01-13।
  26. Dickson, Glen, “NAB Shows Off New Spectrum Applications”, Broadcasting & Cable, 2010-01-09। 2010-01-13।
  27. Eggerton, John, “FCC's Bellaria Says Broadcasters Lobbying Against Scenario That's No Longer On Table”, Broadcasting & Cable, 2010-01-18। 2010-01-26।
लोकल टीवी मोबाइल टीवी अडॉप्शन को प्रोत्साहन कर सकते हैं.सीनेट समाचार. cnet.com स्रोत: बीबीसी (BBC)
साँचा:Wireless video

[संपादित करें] बाहरी लिंक्स

[संपादित करें] संदर्भ

पृष्ठ मूल्यांकन देखें
इस पन्ने का मूल्यांकन करे।
विश्वसनीय
उद्देश्य
पूर्ण
अच्छी तरह से लिखा हुआ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें