शुक्रवार, 16 सितंबर 2011

साल के अंत तक डीटीएच पर 150 चैनलों का प्रसारण करेगा दूरदर्शन


E-mail Print PDF
नई दिल्ली । देश के सार्वजनिक प्रसारक दूरदर्शन में एक बड़ा विस्तार होने जा रहा है। प्रसार भारती बोर्ड ने दूरदर्शन को इस साल के अंत तक डायरेक्ट-टू-होम (डीटीएच) के जरिए अपने 150 चैनलों के प्रसारण की अनुमति दे दी है। डीटीएच प्लेटफार्म डीडी डायरेक्ट प्लस पर कार्यक्रमों के प्रसारण समय (स्लॉट्स) की इंटरनेट पर होने वाली नीलामी से प्रोत्साहित होकर प्रसार भारती ने 2012 में 100 और चैनल शुरू करने को स्वीकृति दी है। वर्तमान में दूरदर्शन के 59 डीटीएच चैनल हैं।
पिछले सप्ताह बोर्ड की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया। विश्वसनीय सूत्रों के हवाले से पता चला है कि 28 जुलाई से 30 अगस्त के बीच 45 निजी कम्पनियों ने इंटरनेट नीलामी में हिस्सा लिया। इससे कुल 63 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ। एक अदालती आदेश के बाद इंटरनेट नीलामी की प्रक्रिया अपनाई गई थी। अदालत ने दूरदर्शन से स्लॉट्स के आवंटन के लिए पारदर्शी प्रक्रिया अपनाने के लिए कहा था।
हाल ही में हुई नीलामी में डीटीएच प्लेटफार्म पर छह खाली स्लॉट्स 3.21 करोड़ से 3.5 करोड़ रुपये प्रति वर्ष कीमत में बेचे गए। ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) के एफएम नेटवर्क में भी बड़े विस्तार की योजना है। एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा गया है कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की एफएम विस्तार योजना के तहत बोर्ड ने सभी 313 शहरों में एआईआर के एफएम स्टेशन शुरू किए जाने को स्वीकृति दे दी है। साभार : देशबंधु

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें