गुरुवार, 4 अगस्त 2011

टीवी चैनल को तत्काल चाहिए

reporter.jpgशीघ्र ही शुरु होने जा रहे हिन्दी के एक न्यूज़ चैनल के लिए देश के गाँव-गाँव से लेकर शहरों के गली मोहल्ले तक टीवी रिपोर्टर यानी टीवी पर खबरें देने वाले संवाददाताओं की आवश्यकता है, जो अपने शहर या मोहल्ले में होने वाली घटनाओं की रिपोर्टिंग कर सके।

आवेदक के लिए कोई शैक्षणिक योग्यता निर्धारित नहीं है, कोई भी थोड़ा पढा-लिखा आवेदन दे सकता है। लेकिन आवेदक को शहर के अपारधियों से लेकर पुलिस वालों से अच्छे संबंध होना चाहिए, ताकि उसे अपराध जगत की खबरें आसानी से मिल सके। अगर आवेदक खुद ब्लैकमैलिंग, चोरी, लूट बलात्कार जैसे अपराध में जेल जा चुका है या किसी दुश्मन द्वारा फँसाया जा चुका है तो उसके आवेदन पर तत्काल विचार किया जाएगा।

ऐसे आवेदक को अपने ऊपर चल रहे मुकदमों, पुलिस में अपने खिलाफ दर्ज रिपोर्ट, अखबार में अपने खिलाफ छपी खबरों की कतरनें आदि प्रमाण के रूप में भेजना होगी। अपने आवेदन के साथ चैनल को हत्या, बलात्कार, लूट, धोखाधड़ी जैसे अपराध करने वालों की सूची, उनके द्वारा किए गए सफल अपराधों की सूची और वे किस अपराध में पारंगत हैं इसका पूरा व्यौरा भेजना होगा ताकि इस तरह के अपराधों पर चैनल उनसे तत्काल संपर्क कर उनसे इस तरह के अपराध पर विस्तार में चर्चा कर उनकी विशेषज्ञता का फायदा ले सके।

आवेदक को चाहिए कि वो अपने शहर या गाँव में होने वाली हर छोटी बड़ी घटना पर नजर ही नहीं रखें बल्कि किसी भी घटना के होने के तत्काल बाद बढ़ा-चढ़ाकर उसकी खबर दें। किसी खबर को जितनी जल्दी भेजा जाएगा, उस संवाददाता को उतना ही योग्य माना जाएगा। शहर में होने वाली चोरियाँ, हत्या, बलात्कार, अपहरण, अवैध शराब के अड्डे, किसी भी सांस्कृतिक कार्यक्रम या मेले में होने वाले फूहड़ नाच-गाने जैसी खबरें प्रमुखता से चैनल पर प्रसारित की जाएगी। अगर कोई रिपोर्टर साहित्यिक, सांस्कृतिक या धार्मिक रुचियों की खबरें भेजेगा तो ऐसी खबरें कतई स्वीकार नहीं की जाएगी। किसी साहित्यिक आयोजन की बजाय आपके शहर में कोई फिल्मी या टीवी अभिनेत्री किसी ब्यूटी पॉर्लर का उद्घाटन करे, किसी गली मोहल्ले में कहीं कोई फैशन शो हो रहा हो, ऐसी खबरों को प्रमुखता दें।

टीवी चैनलों पर सास बहू के नकली झगड़ों को देखकर लोग अब बोर हो चुके हैं। हमारे द्वारा किए गए शोध से पता चला है कि लोग अब असली झगड़ें देखना चाहते हैं। इसके लिए आप अपने गली मोहल्ले से लेकर आसपास के मोहल्लों में ऐसे परिवारों की सूची बनालें जहाँ आए दिन सास-बहू, देवरानी-जेठानी ननंद-भोजाई के बीच लड़ाई झगड़े होते हों। इन झगडों को आप सीधे चैनल पर भी प्रसारित कर सकते हैं और अगर आप चाहें तो इन सास बहू को या ननंद-भोजाई या देवरानी-जेठानी को अपने स्टुडिओ में भी ला सकते हैं। हम इनसे सीधी चर्चा कर इसका सीधा प्रसारण करेंगे ताकि लोग समझ सकें कि घरों में आखिर ये झगड़ें क्यों होते हैं और इनको कैसे सुलझाया जा सकता है। इनसे बात करने के साथ ही हम देश के जाने माने मनोवैज्ञानिकों से, देश की जानी-मानी सासुओं और बहुओं से भी बात करेंगे। लेकिन यह ध्यान रहे कि आप हर बार अलग अलग मोहल्ले की सास-बहुओं के झगड़ें कवर करें। एक ही मोहल्ले की एक घटना का प्रसारण एक बार ही किया जाएगा। एक ही मोहल्ले से दूसरे परिवार को मौका नहीं दिया जाएगा।

अगर आप सास बहुओं के झगड़ों को कवर नहीं कर सकते हैं तो गली मोहल्ले में केल खेल में लड़ने वाले बच्चों के झगडो़ से फभी अपनी रिपोर्टिंग की शुरुआत कर सकते हैं। बच्चों के लड़ाई-झगड़ों में बड़े भी कूद पड़ते हैं और कई बार बच्चों की लडा़ई महाभारत की लडा़ई को भी मात कर देती है। आप चाहें तो गली मोहल्ले में खेलेन वाले बच्चों को उकसाकर भी उनको आपस में लड़ा सकते हैं और टीवी पर लाईव दिखा सकते हैं। टीवी पर बच्चों की लडा़ई दिखाने के बाद उनके माँ-बाप, मोहल्ले वाले और फिर उनकी जाति और समुदाय वाले भी बीच में कूद जाएंगे और इस तरह हम अपने चैनल पर बार बार यह चेतावनी देते रहेंगे कि यह झगड़ा सांप्रदायिक हिंसा का रूप ले सकता है। इस तरह आप चाहें तो एक छोटी सी घटना को बड़ी घटना में वदलकर पूरे प्रशासन को और सरकार को कटघरे में खड़ा कर सकते हैं।

आप चाहें तो ऐसी किसी घटना की रिपोर्टिंग करने के दो-चार दिन पहले बच्चों के आपसी झगड़ें को दिखाकर यह चेतावनी दे सकते हैं कि ये झगड़ा कबी भी हिंक रूप ले सकता है, जाहिर है प्रशासन आपकी इस बात को कतई गंभीरता से नहीं लेगा। इस खबर के प्रसारण के दो चार दिन बाद आप बच्चों को अच्ची तरह भड़काकर उनको लड़ा सकते हैं। इस संबंध में अगर किसी तरह के मार्गदर्शन की जरुरत हो तो तत्काल स्टुडिओ से संपर्क कर सकते हैं।

शीघ्र ही आने वाले देश के एक सबसे तेज न्यूज़ चैनल के लिए अपराधिक मानसिकता में जीने वाले, अपराधियों और ब्लैक मेलरों से संपर्क रखने वाले होशियार, तेजतर्राट और खबर को सूंघकर पहचान सकने वाले तत्काल आवेदन करें। 

Related items

Recommend this article...
टिप्पणियाँ (15)add comment

Jolly Uncle: ...
Very good article on TV reporting. Presently there are about 50 news channels 24 x 7 and they all don't have such a infrastructure to cover the all aspect of the society. Only such types of reporters can do this type of job. Genuine persons still finding hard to get a job. Congrats to the writer.

Jolly Uncle

1

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 23, 2008
मत: +1

waahiid: ...
bakwaas
2

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 23, 2008
मत: -3

amrta kosta: ...
my brother wants to be a reporter.he is persuding B.J>
3

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 23, 2008
मत: +0

parhlad kumar aggarwal: ...
मैं इस नोकरी के लिए अति उतम ह आप चाहे तो पुलिस और अपराधी से पहले आप के चॅनल परअपराध की सूचना पहुचा दुगा , parhlad kumar aggarwal
b58/149 guru nanak pura laxmi nagar delhi india 9911099737

4

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 23, 2008
मत: -1

Jitendra Dave: ...
मान गए उस्ताद. क्या खूब लिखा है. आपने तो पत्रकारिता के मठाधीशों को बिल्कुल नंगा कर दिया. दरअसल किसी ज़माने में मैं भी एक राष्ट्रीय अखबार में पूर्णकालिक पत्रकार था. लेकिन पत्रकारिता का ऐसा चरित्र देखकर मैंने तौबा कर ली. बहुत धारदार लिखा है. इसे जारी रखिए
5

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 24, 2008
मत: +0

karan: ...
जोगी साहब,
महराज,आप लोगो को पत्रकार बनाने की योग्यता बता रहे हैं और सबसे बड़ी और विशेष योग्यता तो आप्नेबतायी ही नहीं कि कैसे किसी दूसरे के ख़बर या स्टोरी को अपने रंग में रंगकर हित हो जाया जाए,बहुत खूब यह योग्यता खुदा ने सिर्फ़ आपको ही बख्शी है.क्या खूब इत्तफाक है अभी कुछ ही दिन पहले इसी पोर्टल पर एक कविता पढी जो पत्रकारिता के गुणों का बखान कर रही थी,पर आज आपका लेख पढ़कर समझ आ गया कि असल पत्रकार तो आप ही हैं,नक़ल को असल और असल को नक़ल बनाने में आपका कोई सानी नहीं है,बधाई हो आप इस पीढ़ी के सबसे होनहार पत्रकार हैं.
यकीन रखता हूँ कि आने वाले दिनों में यहाँ छापे हर एक पोस्ट कि कॉपी आप प्रस्तुत करेंगे.
आशा के साथ आपका..
करण...

6

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 24, 2008
मत: +1

चैनल रिपोर्टर: ...
रमता जोगी,तुम्हें बेहतर पैसे मिले तो तुम भी न्यूज चैनल के लिए काम करने लगोगे। अभी इस तरह के लेख तुम कुण्ठाग्रस्त होते हुए लिख रहे हो। दुनिया के न्यूज चैनलों का तुम्हें ज्ञान होता या समाचार पत्रों में खासकर टेबलायड की जानकारी होती तो तुम इस तरह सामान्यीकरण नहीं करते। जनता की नजरों में तुम पत्रकारों के सम्मान को गिराने पर तुले हो। विनम्रता से विचार करोगे तो पता चलेगा कि कितना मुश्किल है चैनल का पत्रकार होना। छिद्रान्वेषी की तरह तुम दुर्गुण देख रहे हो जबकि सच तो तुम भी जानते हो कि क्या क्या कर रहे हैं सच्चे पत्रकार। ये साइट तुमने क्या सोउद्देश्य चालू की है या जी नेटवर्क के ****हो?
7

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 24, 2008
मत: +1

dhoom: ...
patrakar ke liye lekha pathha..ye aaj ke india tv chanll ki vastavikta he.ek din aayega ki bharatme gali gali me chenlla hogi bahut hi dukhad bhat he
me aapake lekho se khush hu

8

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 25, 2008
मत: +0

sudhakar mishra: ...
mydearchairman-hindi channel,since 6yrs im learning with internet, as admin_internet meance I M INTERNET ADMINISTRATOR I WANT JOB SO THAT I CAN WORK FOR HINDI ON INTERNET FOR GINDI GLOBAL LEADER, HINDI BHASHA MAIN HI BHARAT KA RAHASYA CHHIPA HAI HINDI SE HI DESH KA VIKASH HOGA WITH REGARD I M THE BEST CONDIDET IN WORLD, U CAN SEARCH ABOUT MY THIS IS MY PROFILE EMAIL ADDRESS U CAN ALSO SEARCH MY ANOTHER profile email sudhakar.mishra@yahoo.co.inयह ई-मेल देखने के लिये कृपया जावास्क्रिप्ट को चालू करें
9

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मई 25, 2008
मत: +1

sher singh: ...
media ki aalochna karna koi kathin kam nahin hain,lekin Bhai ye samajh le jahan par pura Desh Bharashtachar mein duba ho aur Police pura beimano ka sath de rahi ho vahan agar thodi rahat milti hain Manushya ko to vah media hi deta he.aur aaj jo ham thode bhi jagruk he aur safe he na vah sab media ki vajah se hain.
10

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
जून 02, 2008
मत: +0

Devraj deepak: ...
priye
ramta jee kripya mera blog www.hindifilmstory.blogspot.com dekhe
aapko copy kar word par paste karana hoga story ka heading NAZARA
HAI MAIL KAREN BINAYKUMAR URF DEVRAJ DEEPAK

11

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
जुलाई 26, 2008
मत: +0

pradeep: ...
भैया मैंने तो कोई डिप्‍लोमा या कुछ उंचे लेवल की पढाई नहीं की है फिर भी में आपके न्‍यूज चैनल के लिए खबरें भेजना चाहता हूं मैं आपसे किस प्रकार संपर्क कर सकता हू और खबर भेज सकता हूं मुझे बताए मेरा मेल है pradeep.bakdeeya@gmail.comयह ई-मेल देखने के लिये कृपया जावास्क्रिप्ट को चालू करें
12

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
अक्टूबर 15, 2008
मत: +0

manav lagan lathwal: ...
total mar ke thik hi likha hai aap ne magar isme aap ki akshubhtaa akshoubh
gussa vangya parhaar thode jyaada teeekhe rakhe hain keep mind cool and save
enrgy our fir se likho aap bahut acha bhi likh sakte hain thank you

13

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
जून 17, 2010
मत: +0

deepak dubey: ...
channel ke liye reporter banane ki shart me pehli shart jhoot bolna aana chahiye. bakwas jyada se jyada kar sake. khabar bhale hi teen line ki ho magar itna kheeche ki tees ghante tak wahi dikhe.- deepak dubey bhopal
14

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
सितम्बर 03, 2010
मत: +0

bharat singh mahra: ...
मैंने तो कोई डिप्‍लोमा या कुछ उंचे लेवल की पढाई नहीं की है फिर भी में आपके न्‍यूज चैनल के लिए खबरें भेजना चाहता हूं मैं आपसे किस प्रकार संपर्क कर सकता हू और खबर भेज सकता हूं मुझे बताए मेरा मेल है bharat.mahra@gmail.comयह ई-मेल देखने के लिये कृपया जावास्क्रिप्ट को चालू करें
15

अवांच्छित दर्ज करें
नापसन्द करें
पसन्द करें
मार्च 29, 2011
मत: +0


टिप्पणी लिखें
संक्षेप | विस्तार

busy

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें