प्रस्तुति-- प्रमोद अखौरी, प्यासा रुपक

मुंबई के नेशनल गैलेरी ऑफ़ माडर्न आर्ट में स्वतंत्र संग्राम के दौरान और स्वतंत्रता के बाद के भारत की खिंची हुई तस्वीरों की एक प्रदर्शनी शुरू हुई है.
इस प्रदर्शनी का शीर्षक है 'विज़ुअल अर्काइव ऑफ़ कुलवंत राय'. कुलवंत राय उस दौर के गिने चुने फ़ोटो जर्नलिस्टों में एक थे.
यह तस्वीर 1946 की है, जिसमें सरदार पटेल, महात्मा गांधी और जवाहर लाल नेहरू आज़ादी के मसले पर बातचीत कर रहे हैं. 1984 में कुलवंत राय की मृत्यु के बाद उनकी दुर्लभ तस्वीरों का डॉक्यूमेंटशन उनके भतीजे आदित्य आर्या ने किया, ताकि भारतीय इतिहास की महत्वूर्ण घटनाओं को सहेजा जा सके.
महात्मा गांधी हमेशा रेलवे के थर्ड क्लास में ही सफ़र किया करते थे. इस तस्वीर में वे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से उतर रहे हैं.
सीमांत गांधी के नाम से प्रसिद्ध अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ां और महात्मा गांधी की इस तस्वीर को आदित्य ने मुड़े हुए निगेटिव से डेवेलप किया है.
राजकुमारी अमृत कौर के साथ महात्मा गांधी की ये तस्वीर भी मुड़ी हुई निगेटिव से तैयार की गई है. राजकुमारी अमृत कौर भारतीय कैबिनेट में दस साल तक स्वास्थ्य मंत्री रहीं.
1950 के दशक में यूरोप दौरे पर निकलने से पहले जवाहर लाल नेहरू अपने नाती राजीव गांधी को दुलार कर रहे हैं.
महात्मा गांधी इस तस्वीर में किसी बैठक को संबोधित करने के लिए जाते हुए नज़र आ रहे हैं. कुलवंत राय के चित्रों की यह प्रदर्शनी अगस्त महीने के अंत तक चलेगी. ये तस्वीरें उन्होंने 1930 से 1960 के दौरान खिंची थीं. (मुंबई से चिरंतना भट्ट की रिपोर्ट, सभी तस्वीरें आदित्य आर्या आर्काइव के सौजन्य से)
(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)