मंगलवार, 30 जून 2020

जल ऊर्जा ईंधन कब तक?





पानी से हाइड्रोजन ईधन

वैज्ञानिकों ने पानी से हाइड्रोजन ईधन के उत्पादन का सस्ता और प्रभावी तरीका खोजा है। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ अरकंसास और आरगोन नेशनल लैब के वैज्ञानिकों ने पाया कि निकेल और लोहे के नैनो पार्टिकल अन्य महंगे उत्प्रेरकों का बेहतर विकल्प हो सकते हैं।
वैज्ञानिकों ने पाया कि निकेल और लोहे के सूक्ष्म उत्प्रेरकों की मदद से पानी के विखंडन की प्रक्रिया तेज हो जाती है। विखंडन से हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के परमाणु अलग हो जाते हैं और फिर इलेक्ट्रॉन से क्रिया कराते हुए हाइड्रोजन गैस बनाई जाती है।

वैज्ञानिकों ने बताया कि लोहे और निकेल के नैनो कण इस प्रक्रिया को तेज करने में सहायक होते हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि निकेल और लोहा अन्य उत्प्रेरकों की तुलना में बेहद सस्ते विकल्प हैं।

इस प्रक्रिया की सफलता भविष्य में पानी के विखंडन से हाइड्रोजन और ऑक्सीजन के निर्माण का ज्यादा व्यावहारिक तरीका स्थापित करने में मददगार होगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें