शुक्रवार, 19 जून 2020

पीएम केयर फंड के मायने








**PMCareFund का नया घोटाला**

मोदी जी ने स्वदेशी वेंटिलेटर PMCare फंड से मंगाए और कीमत वसूली 4 लाख रुपये प्रति वेंटिलेटर। लेकिन ये SkanRay CV2000k वेंटिलेटर असल में फिलिप्स हेल्थकेयर के लिए भी वेंटिलेटर बनाती है। मार्किट में इनकी कीमत 2.5 लाख है (अभी डिस्काउंट नही हटाया)।  13 मई को प्रधानमंत्री ऑफिस ने प्रेस रिलीज जारी करके जानकारी दी थी की PMCare Fund से 3100 करोड़ रिलीज किये जिसमें से 2000 करोड़ के 50 हज़ार वेंटिलेटर ख़रीदे गए हैँ..  इस हिसाब प्रधानमंत्री ऑफिस ने प्रति वेंटिलेटर 4 लाख कीमत दिखाई।

मार्किट कीमत पर बिना डिस्काउंट के भी 50 हज़ार वेंटिलेटर खरीदने पे कुल खर्च 1250 करोड़ होना चाहिए था तो बचें हुए हुए 750 करोड़ मोदी जी खा गए क्या ?

जब ये जानकारी मुंबई के RTI एक्टिविस्ट साकेत गोखले ने बाहर निकाली तो बेचने वाली कपनी की साईट पर अचानक दाम 2.5 लाख से बढ़ा कर 11 लाख कर दिया गया। लेकिन गूगल पे अभी भी उतनी ही 2.5 लाख कीमत दिखा रहा है क्योंकि उसे रातों रात अपडेट होने में समय लगता है.. ध्यान दीजिये, ये पीएमकेयर फंड का पहला 3000 करोड़ का खर्चा है और मोदी जी ने 750 करोड़ का घोटाला कर लिया..  बचें हुए 50-60 करोड़ में कितना करेंगे.. इसी लिए अलग फंड बनवाया था ना ?
#कालचक्र

Lakshmi Pratap Singh

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें