मंगलवार, 22 मई 2012

'2040 तक दुनिया से नदारद हो जाएंगे न्यूज पेपर'

  • न्यूज पेपर के भविष्य को लेकर एक खराब और दिल दहला देने वाला आकलन,जरा सोचिए कैसा होगा वो दिन जब घर में कारी सुख सुविधाएं और संचार के तमाम साधन तो होंगे, मगर रोजाना छपने वाला पेपर नहीं होगा। पेपर के बगैर चाय का कैसा होगा या रहेगा स्वाद । ओह
जेनेवा। संयुक्त राष्ट्र संगठन के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि वर्ष 2040 तक छपाई वाले अखबार दुनिया से नदारद हो जाएंगे और इनकी जगह डिजिटल अखबार ले लेंगें।
प्रांसीसी दैनिक ला ट्रिब्यून डे जेनेवे ने संयुक्त राष्ट्र बौद्धिक संपदा संगठन के प्रमुख प्रैंसिस गुरी के हवाले से बताया है कि कुछ वर्षों बाद मुद्रित अखबार बीते जमाने की बात हो जाएंगे । गुरी ने कहा कि यह विकास की प्रक्रिया का हिस्सा है। इसमें अच्छा या बुरा जैसी कोई बात नहीं है। हमारे पास इस तरह के अध्ययन हैं जिनके निष्कर्षों के आधार पर पक्के तौर पर कहा जा सकता है कि 2040 तक अखबार नदारद हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि अमेरिका इस मायने में सबसे आगे होगा और वहां 2017 में यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। गुरी ने कहा कि अमेरिका में इस समय डिजिटल अखबार कागज के अखबारों से कहीं ज्यादा बिक रहे हैं और शहरों में तो किताबों की दुकानें भी बहुत कम हैं।
यह पूछे जाने पर कि ऐसी स्थिति में अखबारों के लिए लेख लिखने वालों को मेहनताना देने के लिए संपादकों को राजस्व कहां से मिलेगा गुरी ने कहा कि लेखकों को भुगतान के लिए कापीराइट प्रणाली को मजबूत करना होगा।

1 टिप्पणी:

भारतीय नौसेना दिवस

 आज भारतीय नौसेना दिवस है। यह 1971 की जंग में भारतीय नौसेना की पाकिस्तानी नौसेना पर जीत की याद में मनाया जाता है।  3 दिसंबर को भारतीय सेना प...