सोमवार, 9 अगस्त 2021

टीएमयू की डॉ. प्रेरणा गुप्त बनीं मिसेज इंडिया

खास बातें  / कोविड में पॉजिटिविटी पर जीता जजों का दिल



बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी ने पूछा था सवाल

मिसेज यूनिवर्स बनने की चाह है डॉ. प्रेरणा की

अर्से का सपना हकीकत में तब्दील,2015 में भी पहुंची थी फाइनल में

मोटिवेशन के लिए चांसलर श्री सुरेश जैन, जीवीसी श्री मनीष जैन का जताया शुक्रिया

डॉ. प्रेरणा के पति डॉ. जिगर हरिया भी हैं सीनियर फिजिशियन



 सुना है, जोश,जुनून और संकल्प के आगे लक्ष्य भी बौना पड़ जाता है। मशहूर गज़लकार दुष्यंत त्यागी का शेर... कौन कहता है, आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों... तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी की डॉ. प्रेरणा गुप्ता पर सौ फीसदी सटीक उतरता है। 43 बरस की डॉ. प्रेरणा पेशे से डॉक्टर हैं और टीएमयू हॉस्पिटल में सीनियर मनोचिकित्सक हैं। जयपुर में जन्मीं डॉ. गुप्ता की सुसराल मुंबई में है। बीकानेर से एमडी डॉ. प्रेरणा गुप्ता दंपत्ति 2009 से तीर्थंकर महावीर हॉस्पिटल में सेवाएं दे रहे हैं। मिसेज इंडिया यानी डॉ. गुप्ता के पति डॉक्टर जिगर हरिया भी टीएमयू हॉस्पिटल में सीनियर फिजिशियन हैं। एक बेटे रियान की मदर डॉ. प्रेरणा की चाह अब मिसेज यूनिवर्स बनने की है। रियान हरिया सीएल गुप्ता वर्ल्ड स्कूल में पांचवी का छात्र है। डॉक्टर पति और बेटा मिसेज इंडिया चुने जाने पर बहुत खुश हैं। डॉ. हरिया सधी हुई प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं, आखिर डॉ. प्रेरणा का सपना पूरा हुआ। डॉ. प्रेरणा गुप्ता इस कामयाबी का श्रेय अपनी फैमिली को देते हुए कुलाधिपति श्री सुरेश जैन और जीवीसी श्री मनीष जैन का मोटिवेशन के लिए शुक्रिया अदा करना नहीं भूलती हैं। 


अडिवा इनोवेशंस की ओर से गुरुग्राम के हयात रीजेंसी में आयोजित प्रतियोगिता में करीब 100 प्रतिभागियों ने शिरकत की। बीस - बीस पांच ग्रुप्स  के तीन राउंड हुए,लेकिन फाइनल में डॉक्टर प्रेरणा समेत 16 प्रतिभागी ही पहुंचे। सवाल - जवाब के राउंड में बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी ने इंट्रो के बाद डॉ. प्रेरणा गुप्ता से पूछा, डॉक्टर की हैसियत से आपको कोविड के दौरान सकारात्मक क्या लगा ? आत्मविश्वास से लबरेज़ डॉक्टर गुप्ता ने जवाब दिया, कोविड काल में हमने एक - दूसरे की केयर की है। बतौर मनोचिकित्सक मैंने देखा,लोगों ने अपनों को खोया,लेकिन हिम्मत नहीं हारी। कोरोना से लड़ने के प्रति दृढ़ विश्वास बढ़ा है। अंत में बोलीं,सबकी सेवा नहीं करोगे तो किसी की सेवा नहीं करोगे। अंततः डॉक्टर प्रेरणा गुप्ता के सिर मिसेज इंडिया का ताज सज गया। अडिवा इनोवेशंस के एमडी श्री विनय यादव और डायरेक्टर रितिका विनय ने डॉक्टर प्रेरणा गुप्ता को मिसेज इंडिया - क्वीन ऑफ सब्सटेंस 2021 का क्राउन पहनाया। इस आत्मविश्वासी जवाब के आगे यूएसए से आई दांतों की डॉक्टर रेमिया नटराजन फर्स्ट रनर अप तो सेकंड रनर अप के लिए खिताब विंग कमांडर कविता  कथूरिया और गगनदीप कौर के बीच टाई हो गया। प्रोग्राम के एंकर बॉलीवुड अभिनेता अमन वर्मा रहे। मिसेज इंडिया ईश्वर का भी आभार प्रकट करना नहीं भूलीं। उल्लेखनीय है,  यह प्रतियोगिता पहले होनी थी,लेकिन कोरोना के चलते दो बार टल गई। इसका ऑडिशन तो 2019 में हो गया था। इससे पूर्व उन्होंने बर्मा की राजधानी म्यांमार में आयोजित प्रोग्राम में 2015 में भी क्राउन पहनने का ख़्वाब संजोया था। वह फाइनल राउंड में भी पहुंच गई थीं, लेकिन मनोचिकित्सक विभाग की ओर से आयोजित कांफ्रेंस के चलते बर्मा नहीं जा पाईं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कितनी बदल गयी दिल्ली / विवेक शुक्ला

 दिल्ली 1947- 2021 कितनी बदली   साउथ दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव के करीब हुमायूंपुर में मिजो फूड तथा मयूर विहार में मलयाली रेस्तरांओं के साइन...