सोमवार, 25 जनवरी 2021

जन गण मन का गान करें / दिनेश श्रीवास्तव

 गीत- /  🇮🇳 *जन -गण-मन का गान करें🇮🇳


वीरों की धरती है प्यारे,इस पर हम अभिमान करें।

झंडा ऊँचा रहे हमारा,जन-गण-मन का गान करें।।


यह धरती वीर शिवा की है,भगत सिंह बलिदानी की।

बिस्मिल अरु अशफ़ाक सरीखे,शेखर सम अभिमानी की।

इनके बलिदानों का प्यारे, आओ हम प्रतिदान करें।

झंडा ऊँचा रहे हमारा,जन-गण-मन का गान करें।।


मुगलों ने हमको है लूटा, अंग्रेजों ने मारा था।

सोने की चिड़िया था भारत,प्यारा और दुलारा था।

लहू बहा आजादी पाई,इसका हम सम्मान करें।

झंडा ऊँचा रहे हमारा,जन-गण-मन का गान करें।।


राणा थे आदर्श हमारे,भामा जैसे त्यागी थे।

यह सुभाष का देश है प्यारे,आजादी अनुरागी थे।

आजादी थी कठिन तपस्या,इस पर हम अभिमान करें।

झंडा ऊँचा रहे हमारा,जन-गण-मन का गान करें।।


सीमा की रक्षा के ख़ातिर,सैनिक अपने खड़े हुए।

जीरो डिग्री तापमान पर,हिमखंडों पर अड़े हुए।

देश चलाने वाले नेता,उनका भी कुछ ध्यान करें।

झंडा ऊँचा रहे हमारा,जन -गण-मन का गान करें।।


              🇮🇳 दिनेश श्रीवास्तव🇮🇳

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें