मंगलवार, 19 जनवरी 2021

ज़ब नेहरू लज्जित हो गये

 नेहरू जी मीटिंग में उपस्थित सदस्यों की तरफ देखते हुए कहते है कि....


मुझे लगता है कि भारतीय सेना में अभी किसी को 


अनुभव नही है इसलिए किसी ब्रिटिश को ही क्यों न 


सेनाध्यक्ष बना दिया जाय ..!


नेहरू जी की ऐसी बातें सुनकर  नाथू सिंह राठौड़  जी 


आवेश में बोले कि ... मुझे भी लगता है कि  यहां के नेताओं को देश चलाने का तजुर्बा  नही है क्यों न किसी ब्रिटिश को pm बना दिया जाय...!


ऐसा सीधा  सपाट जवाब सुनकर नेहरू जी झेंप गए और   


नाथू सिंह राठौड़  जी से बोले कि   -


क्या आप सेना अध्यक्ष बनेंगे ..!


तो  उन्होंने कहा कि  नही   केएम करिअप्पा  जी मुझसे 


वरिष्ठ है और इस पद के लिए ज्यादा योग्य है ......


जनरल करिअप्पा के बाद ही   नाथू सिंह जी सेनाध्यक्ष बने....


....❤️❤️

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें