गुरुवार, 21 जनवरी 2021

भागवत गीता का महत्व

 चेन्नई में समुद्र के किनारे एक सज्जन धोती कुर्ता में भगवद गीता पढ़ रहे थे । तभी वहां एक लड़का आया और बोला कि आज साइंस का जमाना है.... फिर भी आप लोग ऐसी किताबे पढ़ते हो... देखिए जमाना चांद पर पहुंच गया है... और आप लोग ये गीता, रामायण पर ही अटके हुए हो.....


उन सज्जन ने लड़के से पूछा की "तुम गीता के बारे में क्या जानते हो"


वो लड़का जोश में आकर बोला-- अरे बकवास.... मैं विक्रम साराभाई रिसर्च संस्थान का छात्र हूँ... I m a scientist.... ये गीता तो बकवास है हमारे आगे ।


वो सज्जन हंसने लगे.... तभी दो बड़ी-बड़ी गाड़ियाँ वहां आई... एक गाड़ी से कुछ ब्लैक कमांडो निकले.... और एक गाड़ी से एक सैनिक । सैनिक ने पीछे का गेट खोला तो वो सज्जन पुरुष चुपचाप गाड़ी में जाकर बैठ गए...


लड़का ये सब देखकर हक्का बक्का था । उसने दौड़कर उनसे पूं छा---- सर.... सर आप कौन है??


वो सज्जन बोले--- तुम जिस विक्रम साराभाई रिसर्च इंस्टीट्यूट में पढ़ते हो मैं वही विक्रम साराभाई हूँ.....


लड़के को 440 वाट का झटका लगा ।।।।


इसी भगवद गीता को पढ़कर डॉ. अब्दुल कलाम ने आजीवन मांस न खाने की प्रतिज्ञा कर ली थी....


गीता एक महाविज्ञान है..... गर्व कीजिये।।


इस पोस्ट को आप गर्व से शेयर और कॉपी करें ताकि जन जन तक मेरा ये संदेश पहुंचे और पोस्ट की सार्थकता सिद्ध हो ""

 

"""मुझसे जुड़ने के लिए इस पेंज "आंखो देखी - साहिल पटेल के साथ" को follow या लाइक करें"""

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें