बुधवार, 13 जनवरी 2021

पलामू डायरी -/

 पलामू डायरी - 99


यह इमारत कोई पुराना दफ्तर है।

कभी रेहला (गढ़वा रोड) में केंदू (बीड़ी) पत्ता की बड़ी- बड़ी आढ़तें हुआ करती थीं। सबसे बड़ी आढ़तिया थी जे० बी० कंपनी जिसके बीड़ी-पत्ते के विशाल गोदामों के कुछ अवशेष आज भी मौजूद हैं,एक में बच्चों के लिए एक नीजी स्कूल चल रहा है।इस कंपनी के मालिक थे गुजरात के झवेर भाई भूल जी भाई पटेल जिन्होंने इस अरण्यक्षेत्र में पलामू के जनहित के कई कार्य किए।

आज जब धनाढ्य धनकुबेर प्रभू वर्ग जनहित के नकाब पहने मंहगे शिक्षा-तकनीकी संस्थान या मल्टी-सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल स्थापित कर जनहित के प्रहसन रचते हुए जन की जेबें काटते-कुतरते लाभ लूट रहे हैं,जे०बी० कंपनी ने रेहला में एक विद्यालय की स्थापना की थी जो आज भी पलामू के एक मानक शिक्षा संस्थान के रूप में ख्यात है।

(विद्यालय के मुख्य भवन की तस्वीर विद्यालय के शिक्षक बंधु राजेश जी के सौजन्य से)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें