रविवार, 4 अक्तूबर 2020

डिजिटल सत्याग्रह शुरू हो :संजय द्विवेदी

 अग्रसेन महाविद्यालय में  डिजिटल मीडिया पर वेबिनार*

 

शुरू कीजिए डिजिटल सत्याग्रह : प्रो. द्विवेदी


सोशल मीडिया में सुरक्षा आपके हाथ हीः विवेक अग्रवाल


*रायपुर, 4 अक्टूबर।* अगर आप इस डिजिटल युग में गांधीजी के रास्ते पर चलना चाहते हैं, तो आज से डिजिटल सत्याग्रह की शुरुआत कीजिए।'' यह विचार भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने अग्रसेन महाविद्यालय द्वारा आयोजित वेबिनार में व्यक्त किए। आयोजन में देश के प्रतिष्ठित अपराध मामलों के लेखक एवं पत्रकार विवेक अग्रवाल मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए। 

''डिजिटल समय में मीडिया'' विषय पर मुख्य अतिथि के तौर पर बालते हुए प्रो. द्विवेदी ने कहा कि आपने महात्मा गांधी के तीन बंदरों के बारे में ज़रूर सुना होगा। महात्मा गांधी ने इन बंदरों के ज़रिए बुरा ना देखने, बुरा ना बोलने और बुरा ना सुनने की शिक्षा दी थी। लेकिन आज के इस डिजिटल युग में मैं आपसे ये कहना चाहता हूं कि ''बुरा मत टाइप करो, बुरा मत लाइक करो और बुरा मत शेयर करो।'' 


प्रो. द्विवेदी ने कहा कि पत्रकारिता चाहे प्रिंट की हो या डिजिटल की, उसका भविष्य इस बात पर निर्भर करेगा कि वह जिस मोड़ पर खड़ी है, वहां से किस रास्ते पर जाने को तैयार है। पत्रकार अगर पत्रकारिता का सुनहरा भविष्य चाहते हैं, तो उन्हें इसके लिए वर्तमान में स्वस्थ बीज बोने पड़ेंगे।


वेबिनार को संबोधित करते हुए अपराध मामलों के विशेषज्ञ व लेखक विवेक अग्रवाल ने कहा कि   सोशल मीडिया के युग में अपनी डिजिटल प्रॉपटिज की रक्षा कैसे करें यह आपके ही हाथ है।आपकी डिजिटल गतिविधि पर हर यूजर्स की नजर है लेकिन उन पर आपकी नजर कैसी हो। इसके लिये सुरक्षा टूल का भी उपयोग कर सकते है। वर्तमान परिदृश्य में जरूरी है कि हम जितना डिजिटल सुरक्षा की चिंता करेंगे उतना ही सुरक्षित रहेंगे। 


उन्होंने कहा कि हमें हर जानकारी को सोशल मीडिया पर साझा नहीं करना चाहिये। ऐसे बहुत सारे एप हैं, जिनके माध्यम से हम अपनी सुरक्षा की चिंता स्वयं ही कर सकते हैं। उन्होंने वर्तमान समय में कैसे हम सूचना का सम्प्रेषण किस तरह करना चाहिये इसके  बारे विस्तार जानकारी दी।


आभार  प्रकट करते हुए अग्रसेन महाविद्यालय के सदस्य अनुराग अग्रवाल ने कहा कि सूचना के अभाव में जीवन की प्रगति ही प्रभावित हो सकती है लेकिन, इन सबके बीच हम सुरक्षित सूचना माध्यमों का प्रयोग कैसे करें यह भी जरूरी है। उन्होंने डिजिटल सत्याग्रह अभियान को सब तक पंहुचाने का संकल्प लिया। सत्र संचालन हेमंत पाणिग्रही ने किया। वेबिनार में अग्रसेन महाविद्यालय के  निदेशक डॉ. व्ही. के. अग्रवाल, डॉ. युलेंद्र कुमार राजपूत, अमित कुमार अग्रवाल, अभिनव अग्रवाल सहित महाविद्यालय के छात्र, प्राध्यापक व समाज के गणमान्य सदस्य शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें