शुक्रवार, 24 जुलाई 2020

अंतरिक्ष की रोचकता



अंतरिक्ष से संबंधित रोचक तथ्य

एक अंतरिक्ष सूट को बनाने में 12 मिलियन डाॅलर खर्च होते है।

आप अंतरिक्ष में कभी रो नही सकते क्योकीं आपके आंसू नीचे ही नही गिरेंगे।

अन्तरिक्ष में यदि धातु के दो टुकड़े एक दूसरे को स्पर्श कर लें तो वे स्थायी रूप से जुड़ जाते हैं।

किसी अन्तरिक्ष वाहन को वायुमंडल से बाहर निकालने के लिए कम से कम 7 मील प्रति सेकंड की गति की आवश्कता होती हैं, पर ऐसा क्यों हैं ऐसा अभी तक ज्ञात नहीं हुआ हैं।
अंतरिक्ष यात्रियों की माने तो, अंतरिक्ष में वैल्डिंग के धुएँ और गर्म धातु जैसी बदबू आती है।

अंतरिक्ष में कम गुरुत्वाकर्षण के कारण इंसान के रीढ़ की हड्डी पृथ्वी पर होने वाले खिंचाव से मुक्त हो जाती है। ऐसे में जब कोई अंतरिक्ष यात्री अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा करता है तो उनकी लंबाई 2.25 इंच तक बढ़ जाती है।

अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण के न होने से कमजोरी आती है और यह अंतरिक्ष में जाने वाले हर व्यक्ति के साथ होता है। इस कमजोरी से बाहर आने में एक यात्री को लगभग 2-3 दिन का समय लग सकता है।
NASA अंतरिक्ष यात्रियो के लिए 3D पिज्जा विकसित कर रहा है।

1962 में अमेरिका ने अंतरिक्ष में हाइड्रोजन बम विस्फोट किया था यह हिरोशिमा पर गिराए गए बम से 100 गुना शक्तिशाली था।

अंतरिक्ष में पहली सेल्फी 1966 में बज एल्ड्रिन द्वारा खींची गई थी। अब इसकी कीमत 6 लाख रूपए है।

अंतरिक्ष यान में सोना काफी चुनौती भरा होता है। अंतरिक्ष यात्री को सोने के लिए काफी मेहनत करनी होती है। उन्हें आंखों पर पट्टी बांध कर एक बंक में सोना होता है ताकि वह तैरने और इधर-उधर टकाराने से बच सके।

अंतरिक्ष में गुरुत्वाकर्षण न होने के कारण अंतरिक्ष यात्री भोजन पर नमक या मिर्च नहीं छिड़क सकते। और वे भोजन भी द्रव्य के रूप में लेते है, ऐसा इसलिए है क्योकीं सूखे भोजन हवा में तैरने लगेगें और इधर उधर टकराने के साथ ही अंतरिक्ष यात्री की आंख में भी घुस जाएगा।

पृथ्वी से आसमान नीला दिखाई देता हैं, लेकिन अन्तरिक्ष यात्रियों को यह काला दिखाई देता हैं।
Space में यदि आप किसी के सामने खड़े रहकर भी तेज चिल्लाएंगे तो भी वह आपकी आवाज नहीं सुन पायेगा क्योकि वहां पर आपकी आवाज को एक स्थान से दुसरे स्थान तक पहुचाने का कोई माध्यम नहीं हैं।

अगर आप अंतरिक्ष में जाते है तो आप गला घुटने की बजाए शरीर के फटने से पहले मर जाएगें क्योंकि वहाँ पर हवा का दबाब नही है.

International Space Station का आकार फुटबाॅल के मैदान जितना है।

अंतरिक्ष से देखने पर सूर्य काला दिखाई देता है।

'The Great Wall Of China' अंतरिक्ष से देखने पर नजर नही आती क्योकीं चीन में वायु प्रदूषण बहुत ज्यादा है।

आप स्पेस सूट को पहनकर सीटी नही मार सकते क्योकिं इसमें हवा का Pressure बहुत कम होता है।

अगर मनुष्य को बिना किसी सुरक्षा उपाय के स्पेस में छोड़ दिया जाए तो वह केवल 2:00 मिनट तक ही जीवित रहेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कितनी बदल गयी दिल्ली / विवेक शुक्ला

 दिल्ली 1947- 2021 कितनी बदली   साउथ दिल्ली के सफदरजंग एन्क्लेव के करीब हुमायूंपुर में मिजो फूड तथा मयूर विहार में मलयाली रेस्तरांओं के साइन...