रविवार, 18 अक्तूबर 2015

Wi-Fi है साइलेंट किलर..जो धीरे-धीरे करता है तबाह





प्रस्तुति- रूही सिन्हा जूही सिन्हा




 नई दिल्ली। सूचना प्रौद्योगिकी के इस युग में इंसान आज मशीनों का गुलाम हो गया है, आज उसकी पूरी लाइफ टेक्निकल चीजों पर आधारित हो गई है, अगर आज वो फोन के जरिये स्मार्ट हुआ है तो वहीं वो इनकी वजह से खुले आम बीमारियों को दावत भी दे रहा है। आज कल लोग हर समय इंटरनेट का यूज करते हैं जिसके कारण हर घर-ऑफिस में वाई-फाई का धड़ल्ले से प्रयोग होता है। शर्मनाक- पोर्न सर्च करने में सबसे आगे हैं भारत के 6 शहर वाई-फाई के जरिये इंसान अपनी कई चीजों को एक साथ जोड़ता है, अक्सर लोग वाई-फाई से अपनो मोबाइल को कनेक्ट करके पचासों काम करते हैं लेकिन अज्ञानता के कारण वो यह नहीं जानते कि वो हर तरफ से अपने स्वास्थ्य पर बुरा असर डलवा रहे हैं। ब्रिटीश हेल्थ ऐजेंसी के मुताबिक वाई-फाई एक साइलेंट किलर की तरह काम करता है जो कि केवल इंसानों के लिए ही खतरनाक नहीं हैं बल्कि इसका घातक असर पौधों पर भी होता है। क्या होती हैं परेशानियां? अत्यधिक थकान कान में दर्द हमेशा तेज सिर दर्द आंखों में दर्द एकाग्रता का अभाव नींद पूरी ना होना Positive India: इंडिया को तरक्की के लिए चाहिए High-way भी I-way भी हम प्रौद्योगिकी के बिना नहीं रह सकते हैं - यह एक तथ्य है। लेकिन हमें इसके हानिकारक प्रभावों से खुद को सुरक्षित करने की जरूरत है। आईये जानते हैं वाई-फाई का प्रयोग करते हुए हम अपने आप को सुरक्षित कैस रख सकते हैं.. Auto Play 1/6 वाई-फाई को डिस्कनेक्ट कर दीजिये वाई-फाई को डिस्कनेक्ट कर दीजिये सोने से पहले वाई-फाई को डिस्कनेक्ट कर दीजिये ताकि मोबाइल का प्रयोग सोते समय आप ना कर पायें। Show Thumbnail ADVERTISEMENT Read more about: internet, mobile, study, survey, wifi, health, website, इंटरनेट, मोबाइल, शोध, सर्वे, वाईफाई, स्वास्थ्य, वेबसाइट

Read more at: http://hindi.oneindia.com/news/features/wi-fi-silent-killer-that-kills-us-slowly-372041-pg1.html

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें