रविवार, 1 फ़रवरी 2015

मास मीडिया को कैरियर बनाए मगर सोच समझकर






शेयर करें
मास मीडिया एक विविध प्रकार की मीडिया टेक्नोलॉजी है जो जन संचार को एक नए रूप में जोडऩे की क्षमता रखती है। यह एक ऐसा क्षेत्र है जो लोगो को अपनी और बड़ी तेजी से आकर्षित करता है, यही कारण है की आज के युवा नाम और फेम कमाने की चाहत में इस फील्ड की ओर खिचे चले जा रहे है। आज हर युवा जर्नालिस्ट बनना चाहता है, पर हर किसी के सपने साकार नहीं हो पाते इसका एक मात्र कारण यह है की इस क्षेत्र में सफल होने के लिए जिस तरह की योग्यता, क्षमता और धर्य की जरूरत पडती है, उस तरह की योग्यता सबके पास नहीं होती है इसलिए हर कोई इस फील्ड में ज्यादा समय तक टिक नहीं पाता, लेकिन इसके अलावा जिसके पास जज्बा, जुनून और धर्य होता है, आगे बढने के लिए हमेशा तत्पर रहता है, हमेशा कुछ नया करने की जिज्ञासा और न्यूज सेंस होता है, उसे इस क्षेत्र में आगे बढने से कोई नहीं रोक सकता है।
आज सभी चीजें बड़ी तेजी से परिवर्तित हो रही हैं, आज जब ब्लॉग्स का प्रचलन बहुत बढ गया है, कहा जाने लगा है कि कोई भी आसानी से पत्रकार बन सकता है लेकिन असलियत यह है कि इसमें सफलता के लिए कठिन मेहनत और एक विशिष्ट नजरिया जरूरी है।
क्वॉलिफिकेशन
मास मीडिया के किसी भी क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन करने के लिए न्यूनतम योग्यता 12वीं पास है। पत्रकारिता एवं जनसंचार में परास्नातक तथा पीजी डिप्लोमा करने के लिए किसी भी स्ट्रीम से स्नातक होना अनिवार्य है। कई विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों में एडमिशन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होते हैं। इस समय जर्नलिज्म के सभी कोर्स काफी हॉट हैं। आप इनमें से किसी भी कोर्स में अपनी रुचि के अनुरूप एडमिशन ले सकते हैं।
सफल प्रोफेशनल बनने के टिप्स
अगर आपकी लेखन शैली अच्छी है, आपकी वाक्य संरचना में टूटन नहीं है और शब्दों का चयन, अर्थ को पूरी तरह प्रस्तुत करने में सक्षम हैं तो मीडिया फील्ड में काफी आसानी हो जाती है। मीडिया फील्ड में तो बिना कम्प्यूटर की जानकारी के अब प्रवेश भी जल्द संभव नहीं है। अगर आप इस क्षेत्र में सफल होना चाहते हैं तो निम्न चीजों पर अवश्य ध्यान दें -
- बोलचाल की भाषा में ही लिखें, साथ ही भाषा को समृद्ध बनाने का प्रयास करें।
- प्रतिदिन कम से कम दो राष्ट्रीय स्तर (नेशनल लेवल) के समाचारपत्रों को पढने की आदत डालें।
- न्यूज चैनल पर प्रसारित होने वाले टॉक शो, विशेषज्ञ परिचर्चा देखें।
- सामयिक विषयों पर तार्किक चर्चा आपकी विश्लेषण क्षमता बढाएगी।
- क्षेत्रीय भाषा पर पकड़ बनाने के साथ लेखन में उसका नियमित इस्तेमाल करें।
- अखबारों में प्रयोग होने वाली भाषा पर पकड़ बनाएं।
जॉब आप्शन: भारतीय संदर्भ में जनसंचार इस समय सबसे तेजी से उभरता हुआ क्षेत्र माना जा रहा है। देश में बडी संख्या में टीवी और रेडियो चैनल्स हैं, वहीं सभी प्रमुख भारतीय भाषाओं में अखबार और पत्रिकाएं निकल रही हैं। इसके अलावा गवर्नमेंट सेक्टर में भी इसके प्रोफेशनल्स के लिए काफी नौकरियां हैं। विदेश में भी इस फील्ड के जानकारों की अच्छी डिमांड है। सीएनबीसी, बीबीसी, डिज्नी एंटरटेनमेंट, एबीसी जैसी कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियां इस फील्ड में विभिन्न स्तरों पर जॉब्स दे रही हैं।
इनकम: मीडिया फील्ड में कमाई के अधिक अवसर है, शुरुवात में आप को 15000 से 30000 तक का वेतन मिल सकता है, और अगर आप के पास 2-3 साल का तजुर्बा हो तो आपका वेतन बढ़ भी सकता है।

मोबाइल ऐप डाउनलोड करें और रहें हर खबर से अपडेट।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें