शनिवार, 19 जुलाई 2014

वर्तमान राजनैतिक परिपे्रक्ष्य में समाचार पत्रों का योगदान’





‘वर्तमान राजनैतिक परिपे्रक्ष्य में समाचार पत्रों का योगदान’

गोपाल लाल मीणा

Abstract


सूचना क्रांति के इस युग में मीडि़या की भूमिका का बड़ा ही महत्वपूर्ण योगदान है। आज विज्ञान और प्रौद्योगिकी का उत्कर्ष काल है। जिसमें मीडि़या के विविध रूप हमारे सामनें है। सूचना और समाचार संप्रेषण के लिए आज हमारे सामनें अनेक विकल्प उपलब्ध है। मीडि़या जो कि सूचना संप्रेषण करनें का ही काम नहीं करता बल्कि मनोरंजन करता है साथ ही षिक्षित करने के अलावा जनमत निर्माण का काम भी करता है। सूचना व्यवसाय में परंपरागत स्रोतों का प्राचीन काल में बड़ा ही योगदान रहा। जिसमें पक्षियों के माध्यम से सूचनाओं का सम्प्रेषण किया जाता था। ढोल, नगाड़े, दुंदुभी, कठपुतली कला, रास, नृत्य और नाटक, नौटंकी, हेला-ख्याल, रामलीलाएंॅ, और अनेक ऐसे परंपरागत माध्यमों को परंपरागत सूचना संप्रेषण, षिक्षा और मनोरंजन तथा जनमत निर्माण हेतु प्राचीन काल से ही प्रयोग किया जाता रहा है ।

Keywords


हेला-ख्याल, रामलीलाएंॅ और प्रौद्योगिकी

Full Text:

PDF

References


भानावत, संजीव, पत्रकारिता का इतिहास एवं जन-संचार माध्यम,
समाचार माध्यमों का संगठन एवं प्रबंध,
समाचार लेखन के सिद्धान्त और तकनीक,
सम्पादन कला, सभी यूनिवर्सिटी पब्लिकेषन, जयपुर से प्रकाषित।
दीक्षित, सूर्यप्रकाष, जनपत्रकारिता जनसंचार एंव जनसम्पर्क, संजय प्रकाषन, दिल्ली,2004.
जैन, रमेषचन्द, जनसंचार एवं पत्रकारिता खण्ड-1 व 2, मंगलदीप पब्लिकेषन, जयपुर,2003.
कुमार, हरीष, सिनेमा और साहित्य, संजय प्रकाषन, नई दिल्ली, 1998।
मिश्र, अच्युतानन्द, हिन्दी के प्रमुख समाचार पत्र और पत्रिकाएॅ, खंड़-1 से 5, सामयिक प्रकाषन, नई दिल्ली,11002.
राय, सुजाता, राष्ट्रीय जागरण और हिंदी पत्रकारिता का आदिकाल, अनामिका पब्लिषर्स एण्ड़ डिस्ट्रीब्यूटर्स, दिल्ली,110052.
चोपड़ा, लक्ष्मेन्द्र, जनसंचार का समाजषास्त्र, आधार प्रकाषन, पंचकुला, हरियाणा, 2002.
मिश्र, चन्द्र प्रकाष,1. संचार के मूल सिद्धान्त, 2. संचार और संचार माध्यम, संजय प्रकाषन, नई दिल्ली, 2002.
सिंह, ओम प्रकाष, संचार के मूल सिद्धान्त, क्लाषिकल पब्लिषिंग कम्पनी, नई दिल्ली, 2002.
सिंह, श्रीकान्त, सम्प्रेषण-प्रतिरूप एंव सिद्धान्त, भारती पब्लिषर्स एण्ड़ डिस्ट्रीब्यूटर्स, फैजाबाद, उ.प्र.,2001.
श्रवण कुमार, हिन्दी पत्रकारिता का बदलता स्वरूप, ओमेगा पब्लिकेषन, नई दिल्ली-110002.
सिंह, बच्चन, हिन्दी पत्रकारिता का बदलता स्वरूप, व
हिन्दी पत्रकारिता के नये प्रतिमान,विष्वविद्यालय प्रकाषन, वाराणसी, 221001

1 टिप्पणी:

  1. Do you want to donate your kidnney for money? We offer $450,000.00 for one kidnney,Contact us now urgently for your kidnney donation,All donors are to reply via Email only: hospitalcarecenter@gmail.com or Email: kokilabendhirubhaihospital@gmail.com
    WhatsApp +91 7795833215

    उत्तर देंहटाएं