सोमवार, 3 मार्च 2014

जानिए महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीयहिन्दी वि. वि. वर्द्धा को








संचार एवं मीडिया अध्ययन केंद्र


पाठ्यक्रम
1. एम.ए. जनसंचार भारतीय समाज में संचार माध्यमों एवं सम्प्रेषण के क्षेत्रों में का प्रयोग उत्तरोत्तर बढ़ा है और नयी-नयी जनसंचार प्रौद्योगिकियाँ आ रही हैं जिनमें के प्रयोग और रोजगार की नये प्रकार की सम्भावनाएँ भी उद्भूत हो रही हैं। जनसंचार, सम्प्रेषण और पत्रकारिता का यह पाठ्यक्रम इस दृष्टि से भी विशिष्ट है क्योंकि इसमें सम्प्रेषण-सिद्धान्त, जनसंचार के सिद्धान्त, संचार शोध, सांस्कृतिक सम्प्रेषण और अंतरराष्ट्रीय संचार के साथ-साथ मुद्रित और दृश्य-श्रव्य माध्यमों के लिए पत्रकारिता को शामिल किया गया है। यह पाठ्यक्रम चार छमाही का है। कुल 64 क्रेडिट का यह पाठ्यक्रम है। इसके साथ ही कम्प्यूटर तथा किसी भी एक अन्य भारतीय अथवा विदेशी भाषा का अध्ययन अनिवार्य है।इस पाठ्यक्रम में कुल 28 सीटें है।

योग्यता :
किसी भी किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी अनुशासन में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक (10+2+3 पाठ्यक्रम) परीक्षा उत्तीर्ण। (अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए 45 प्रतिशत) शुल्क
  • प्रवेश शुल्क : रु. 150.00
  • छमाही शिक्षण शुल्क : रु. 800.00
  • सुरक्षा शुल्क (प्रत्यर्पणीय) : रु. 250.00
  • पुस्तकालय/प्रयोगशाला संरक्षण शुल्क : रु. 500.00
  • पुस्तकालय शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • खेलकूद शुल्क (वार्षिक) : रु. 30.00
  • इंटरनेट शुल्क (वार्षिक) : रु. 120.00
  • चिकित्सा शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • परिचय पत्र शुल्क : रु. 20.00
  • विद्यार्थी सहायता शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • अकादमिक परियोजना/भ्रमण शुल्क (वार्षिक) : रु. 750.00
  • साहित्य एवं सांस्कृतिक शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • प्रयोगशाला शुल्क (वार्षिक) : रु. 1000.00
  • कुल : रु. 4250.00
प्रथम छमाही
  • संचार एवं जनसंचार : सिद्धांत एवं प्रक्रिया
  • समाज और जनमाध्‍यमों का विकास
  • विकास और संचार
  • भारतीय पत्रकारिता
द्वितीय छमाही
  • प्रिंट मीडिया एवं मुद्रण तकनीक
  • समाचार : संपादन एवं लेखन
  • इलेक्‍टॉनिक मीडिया समाचार लेखन
  • मीडिया विधि एवं आचार संहिता
तृतीय छमाही
  • टेलीविजन कार्यक्रम निर्माण एवं तकनीक
  • साइबर मीडिया एवं सूचना तकनीक
  • जनसंपर्क,विज्ञापन एवं सोशल मार्केटिंग
  • मीडिया शोध
चतुर्थ छमाही
  • मीडिया : संगठन और प्रबंधन
  • श्रव्‍य-दृश्‍य कार्यक्रम निर्माण/ वेब डिजाइनिंग(एच्छिक)
  • शोध परियोजना : लेखन
  • मौखिकी
पाठ्य विवरण के लिए यहाँ क्लिक करें
2.एम.ए. मीडिया प्रबंधन समकालीन वैश्विक मीडीया उद्योग के विभिन्न क्षेत्र में मीडीया प्रबंधन एक उभरता क्षेत्र है।एम.ए. मीडिया प्रबंधन पाठ्यक्रम मीडिया अध्ययन तथा उद्योग सहित व्यावसायिक स्रजनशीलता एवं रोजगार की दृष्टी से महत्वपूर्ण है। इस पाठ्यक्रम द्वारा विद्यार्थियों को अकादमिक एवं प्रबंधकीय अध्ययन के साथ रचनात्मक व प्रतिष्ठित मीडिया प्रतिनिधि की रूप में दक्ष किया जाता है। यह पाठ्यक्रम चार छमाहियों में पूरा होता है। कुल 64 क्रेडिट का यह पाठ्यक्रम है। इसके साथ ही कम्प्यूटर तथा किसी भी एक अन्य भारतीय अथवा विदेशी भाषा का अध्ययन अनिवार्य है।इस पाठ्यक्रम में कुल 30 सीटें है।
योग्यता :
किसी भी किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी अनुशासन में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक (10+2+3 पाठ्यक्रम) परीक्षा उत्तीर्ण। (अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए 45 प्रतिशत) शुल्क
  • प्रवेश शुल्क : रु. 150.00
  • छमाही शिक्षण शुल्क : रु. 800.00
  • सुरक्षा शुल्क (प्रत्यर्पणीय) : रु. 250.00
  • पुस्तकालय/प्रयोगशाला संरक्षण शुल्क : रु. 500.00
  • पुस्तकालय शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • खेलकूद शुल्क (वार्षिक) : रु. 30.00
  • इंटरनेट शुल्क (वार्षिक) : रु. 120.00
  • चिकित्सा शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • परिचय पत्र शुल्क : रु. 20.00
  • विद्यार्थी सहायता शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • अकादमिक परियोजना/भ्रमण शुल्क (वार्षिक) : रु. 750.00
  • साहित्य एवं सांस्कृतिक शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • प्रयोगशाला शुल्क (वार्षिक) : रु. 1000.00
  • कुल : रु. 4250.00

प्रथम छमाही-
  • जनसंचार के सिद्धांत
  • जनमाध्यमों का विकास
  • प्रबंधन की आधारभूत अध्ययन
  • मीडिया समूहों का अध्ययन
द्वितीय छमाही-
  • प्रिंट व दृश्य श्रव्य माध्यम प्रबंधन
  • नई सूचना तकनीक और प्रबंधन
  • कॉर्पोरेट संचार प्रबंधन
  • मीडिया विधि एवं आधार संहिता
तृतीय छमाही-
  • जनसंचार शोध
  • विज्ञापन प्रबंधन
  • विपणन प्रबंधन
  • ब्रांड प्रबंधन
चतुर्थ छमाही-
  • मीडिया संगठन और प्रबंधन
  • मीडिया निर्माण एवं मानव संसाधन
  • मीडिया प्रबंधन संबधित शोध परियोजना लेखन
  • मौखिकी
पाठ्य विवरण के लिए यहाँ क्लिक करें
3.एमएस.सी.इलेट्रॉनिक मीडिया मीडीया अध्ययन क्षेत्र में एमएस.सी. इलेट्रॉनिक मीडिया विशिष्ट पाठ्यक्रम है।इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थियों में संचार के विषय संबंधी ज्ञान व तकनीकी कार्य-कुश्लता शिक्षण-प्रशिक्षण द्वारा दी जाती है। विद्यार्थियों में व्यावसायिक आत्मविश्वास के लिए मीडीया संबंधी अत्याधुनिक उपकरणों व साफ्ट्वेयर के प्रायोगिक कार्य अनिवार्य रूप से शामिल है। कुल 64 क्रेडिट का यह पाठ्यक्रम है। इसके साथ ही कम्प्यूटर तथा किसी भी एक अन्य भारतीय अथवा विदेशी भाषा का अध्ययन अनिवार्य है।इस पाठ्यक्रम में कुल 30 सीटें है।
योग्यता :
किसी भी किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी अनुशासन में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक (10+2+3 पाठ्यक्रम) परीक्षा उत्तीर्ण। (अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए 45 प्रतिशत) शुल्क
  • प्रवेश शुल्क : रु. 150.00
  • छमाही शिक्षण शुल्क : रु. 800.00
  • सुरक्षा शुल्क (प्रत्यर्पणीय) : रु. 250.00
  • पुस्तकालय/प्रयोगशाला संरक्षण शुल्क : रु. 500.00
  • पुस्तकालय शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • खेलकूद शुल्क (वार्षिक) : रु. 30.00
  • इंटरनेट शुल्क (वार्षिक) : रु. 120.00
  • चिकित्सा शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • परिचय पत्र शुल्क : रु. 20.00
  • विद्यार्थी सहायता शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • अकादमिक परियोजना/भ्रमण शुल्क (वार्षिक) : रु. 750.00
  • साहित्य एवं सांस्कृतिक शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • प्रयोगशाला शुल्क (वार्षिक) : रु. 1000.00
  • कुल : रु. 4250.00

प्रथम छमाही
  • संचार एवं जनसंचार:सिद्धांत एवं प्रक्रिया
  • जनमाध्यमों का इतिहास
  • कम्प्यूटर तकनीक एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रिपोर्टिंग
द्वितीय छमाही
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया लेखन
  • इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रबंधन एवं कार्यक्रम प्रस्तुतीकरण
  • मीडिया विधि
  • स्टूडियो एवं प्रसारण पद्धति
तृतीय छमाही
  • रेडियो प्रोडक्शन
  • टेलीविजन प्रोडक्शन
  • वेब प्रोडक्शन
  • संचार शोध
चतुर्थ छमाही
  • समकालीन वैश्विक मीडिया
  • आडियो-वीडियो प्रोडक्शन एवं वेब प्रोडक्शन
  • लघु शोध परियोजना-कार्य
  • मौखिकी
पाठ्य विवरण के लिए यहाँ क्लिक करें
4. एम.फिल. जनसंचार एम.फिल. जनसंचार पाठ्यक्रम एक वर्ष का है जो दो छमाहियों में पूरा होता है। पहली छमाही में तीन प्रश्न-पत्र होंगे। दूसरी छमाही में एक लघुशोध प्रबंध प्रस्तुत करना होगा और एक मौखिक परीक्षा भी ली जाएगी। पूरा पाठ्यक्रम 22 क्रेडिट का है। पहली छमाही में तीन प्रश्न-पत्र-12 क्रेडिट के होंगे और दूसरी छमाही में लघु शोधप्रबंध 8 क्रेडिट का और मौखिक परीक्षा 2 क्रेडिट की होगी। इस पाठ्यक्रम में कुल 15 सीटें हैं।
योग्यता :
संबंध अनुशासन में न्यूनतम 55 प्रतिशत अंकों के साथ किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण। (अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए 50 प्रतिशत) शुल्क
  • प्रवेश शुल्क : रु. 200.00
  • छमाही शिक्षण शुल्क : रु. 800.00
  • सुरक्षा शुल्क (प्रत्यर्पणीय) : रु. 1000.00
  • पुस्तकालय/प्रयोगशाला संरक्षण शुल्क : रु. 750.00
  • पुस्तकालय शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • खेलकूद शुल्क (वार्षिक) : रु. 125.00
  • इंटरनेट शुल्क (वार्षिक) : रु. 250.00
  • चिकित्सा शुल्क (वार्षिक) : रु. 50.00
  • परिचय पत्र शुल्क : रु. 20.00
  • विद्यार्थी सहायता शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • अकादमिक परियोजना/भ्रमण शुल्क (वार्षिक) : रु. 750.00
  • सांस्कृतिक कार्यक्रम शुल्क (वार्षिक) : रु. 25.00
  • प्रयोगशाला शुल्क (वार्षिक) : रु. 750.00
  • कुल : रु. 4795.00

प्रथम छमाही (एम.फिल./पी-एच.डी.)
  • प्रथम प्रश्नपत्र - संचार शोध प्रविधि
  • द्वितीय प्रश्नपत्र - संचार: चिंतन एवं व्यवहार
  • तृतीय प्रश्नपत्र - जनसंचार शोध में कम्प्यूटर अनुप्रयोग
द्वितीय छमाही (एम.फिल.)
  • लघुशोध प्रबंध लेखन
  • मौखिकी
5. पी-एच.डी. जनसंचार पी-एच.डी. जनसंचार के अंतर्गत पी-एच.डी. पाठ्यक्रम चल रहा है।
योग्यता :
संबंध अनुशासन में न्यूनतम 55 प्रतिशत अंकों के साथ किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण। (अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए 50 प्रतिशत) संबंध अनुशासन में किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम 55 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातकोत्तर परीक्षा उत्तीर्ण। (अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए 50 प्रतिशत) वांछनीय : संबंध अनुशासन में एम.फिल./जे.आर.एफ./नेट/अन्य राष्ट्रीय परीक्षा। शुल्क
  • पंजीकरण शुल्क : रु. 300.00 (केवल प्रवेश के समय)
  • कम्प्यूटर शुल्क : रु. 1000.00 (प्रति वर्ष)
  • पुस्तकालय शुल्क : रु. 300.00 (प्रति वर्ष)
  • प्रतिभूति राशि : रु. 1000.00 (प्रतिदेय)
  • परीक्षा शुल्क : रु. 1000.00 (शोध प्रस्तुति के समय )
  • चिकित्सा शुल्क : रु. 50.00 (वार्षिक)
  • कुल : रु. 3650.00
शोध पाठ्यक्रम की विशेषताएं
  • संचार के सिद्धांतो की गूढ विवेचना एवं शोध में नवीन तकनीक के अनुप्रयोग व कंप्यूटर प्रशिक्षण।
  • यह पाठ्यक्रम जानसंचार क्षेत्र के मूल सिद्धांतों
  • प्रक्रिया एवं व्यावहारिक पहलुओं का विश्लेषणात्मक अध्ययन के निमित्त है।
  • जनसंचार माध्यमों की विषयवस्तु
  • तकनीक और उपयोगिता का विवेचन।
  • मीडिया लेखन विशेषकर रिपोर्टिंग और संपादन जैसे कौशल केंद्रित विषय में दक्षता प्राप्त करने हेतु व्यावहारिक कार्यों पर जोर।
  • जनसंचार क्षेत्र में गहन शोध एवं अध्ययन।
अध्ययन प्रणाली
  • सैद्धांतिक अवधारणाओं की विभिन्न माध्यमों से तुष्टि। सूचना, तथ्य,जानकारी,अनुभव का आदान-प्रदान विशेषज्ञों के माध्यमों से।
  • तकनीक एवं व्यावहारिक अध्ययन,कंप्यूटर,इंटरनेट व ऑनलाइन अध्ययन के साथ व्यक्तिगत विकास।
  • संस्थागत कार्य अध्ययन, अध्ययन में शोध कार्य एवं प्रबंधन, केश स्टडी कर नए ज्ञान में विभाग व विश्वविद्यालय के प्रति उत्तरदायी बनाना।
  • शैक्षणिक-भ्रमण,अत्याधुनिक उपकरणों व तकनीक से सम्पूर्ण संचार-क्षेत्र में सक्रिय प्रतिनिधित्व एवं अवसर उपलब्ध कर मुख्य धारा में लाना।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें