शुक्रवार, 28 दिसंबर 2012

एशिया की ताक़त


 गुरुवार, 27 सितंबर, 2012 को 12:19 IST तक के समाचार
लंदन में आयोजित अंतरराष्ट्रीय परिचर्चा में विशेषज्ञों ने एशिया देशों में समृद्धि और लोकतंत्र के मुद्दे पर विचार व्यक्त किए.

आगे जा निकलेगा एशिया

तकनीक को आधार बनाकर शहरों में ढाँचागत व्यवस्था को मज़बूत बनाने के लिए भारी निवेश किया जा रहा है. कहीं यातायात सुधर रहा है तो कहीं पानी की व्यवस्था.
हर्षपति सिंघानिया बता रहे हैं कि कैसे बढ़ता है एक पारिवारिक व्यवसाय पीढ़ी दर पीढ़ी और एक कॉर्पोरेट बनता है.
चीन बीजिंग से शंघाई के बीच एक बुलेट ट्रेन शुरु कर रहा है. इससे ये दूरी पाँच घंटों से भी कम समय में तय होगी.

एक योजनाकार की नज़र से

  • सुप्रसिद्ध वास्तुविद और योजनाकार मोशे सफ़दी बता रहे हैं कि नए महानगरों के लिए कौन-कौन सी चुनौतियाँ हैं.

भारत की उन्नति

ताक़त के दूसरे आयाम

सेवाएँ

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें