मंगलवार, 28 अगस्त 2012

बर्मा में आजाद हुआ मीडिया


 

 

48 साल बाद सेंसरशिप से आजादी 

Source : Ramesh Vyas I


Hindi News Portal
 National anya pramukh 12 censorship revoked in burma after 48 years
बर्मा में नागरिक सरकार ने राजनीतिक सुधारों में ब़डा कदम उठाते हुए लगभग 48 साल के बाद मीडिया से सेंसरशिप हटाने की घोषणा की है।बर्मा में 1964 में प्रेस सेंसरशिप लगाई गई थी। ज्ञात रहे, बर्मा में पिछले साल नागरिक सरकार ने सत्ता संभाली थी। सरकार के प्रेस छानबीन और पंजीकरण विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पत्रकारों को अब से अपने काम को प्रकाशित करने से पहले सेंसर बोर्ड को नहीं दिखाना पडेगा।


प्रेस छानबीन और पंजीकरण विभाग की टिन स्वे ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया,सेंसरशिप छह अगस्त 1964 को शुरू हुई थी और 48 साल, दो हफ्ते के बाद खत्म हो गई है। बर्मा में पिछले पांच साल से सैन्य शासन के दौरान अखबारों से लेकर गानों के शब्दों को सेंसर किया जाता था। हालांकि पिछले साल ही कुछ प्रतिबंधों में ढील दी गई थी।
लेकिन इस मंत्रालय के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि फिल्मों को अब भी सेंसर किया जाएगा। लगभग 300 अखबारों और पत्रिकाओं को कम संवेदनशील मुद्दों पर बिना सेंसरशिप के खबरें प्रकाशित करने की अनुमति दी गई है और लगभग 30 हजार इंटरनेट साइटों पर से प्रतिबंध उठा लिए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें