गुरुवार, 26 जुलाई 2012

महात्मा गांधी अन्तरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय में प्रवेश

bullet अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1.विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान की जाने वाली उपाधि क्या अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों में मान्य है?
उत्तर - हाँ, महात्मा गांधी अन्तरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय एक केन्द्रीय विश्वविद्यालय है जो संसद के अधिनियम द्वारा 1997 में स्थापित की गयी है। इसका कार्यक्षेत्र समूचा देश है। यह विश्वविद्यालय भारतीय विश्वविद्यालय संघ(एआईयू) तथा राष्ट्रमंडल विश्वविद्यालय संघ(एसीयू) का सदस्य भी है। विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान की जाने वाली समस्त उपाधियाँ/प्रमाणपत्र भारत के समस्त विश्वविद्यालयों में नामाँकन के लिए वैध है।
2 - प्रवेश हेतु योग्यता क्या है?
उत्तर - विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित की गई प्रवेश अर्हता रखने वाले सभी अभ्यर्थी विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों में नामाँकन के योग्य है।
3 - प्रवेश परीक्षा में कौन शामिल हो सकता है ?
उत्तर - विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों के लिए प्रवेश परीक्षा/साक्षात्कार आयोजित किया जाता है। प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी को निर्धारित आवेदन प्रपत्र भर कर जमा करना होगा। प्रवेश परीक्षा/साक्षात्कार में उपस्थिति का अर्थ प्रवेश होना नहीं है।
4 - पाठ्यक्रम की अवधि क्या है ?
उत्तर - स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में प्रवेश होने पर विद्यार्थी का नामांकन दो वर्ष के लिए होगा अर्थात् उसे इसी अवधि में पाठ्यक्रम पूरा करना होगा। एम.फिल के सम्बन्ध में नामांकन एक वर्ष के लिए होगा तथा पी-एच.डी. के लिए नामांकन चार (3+1) वर्ष हेतु मान्य होगा।
5 - क्या मैं विश्वविद्यालय के दो डिग्री कार्यक्रमों में एक साथ नामांकित हो सकता हूँ ?
उत्तर - नहीं, यूजीसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार यह संभव नहीं है। यद्यपि अभ्यर्थी विश्वविद्यालय के एक डिग्री पाठ्यक्रम एवं एक प्रमाणपत्र कार्यक्रम में एक साथ नामांकित हो सकता है। अभ्यर्थी की दोनों पाठ्यक्रमों की परीक्षा /परामर्श कार्यक्रम तिथियां एक साथ होने की स्थिति में विश्वविद्यालय जिम्मेदार नहीं होगा।
6 - क्या विश्वविद्यालय पूरक परीक्षाएं आयोजित करता है ?
उत्तर - नहीं, विश्वविद्यालय पूरक परीक्षाओं का आयोजन नहीं करता है। सभी पाठ्यक्रमों के लिए परीक्षाएं वर्ष में दो बार (सत्रानुसार) आयोजित की जाती है।
7 - क्या विलम्ब शुल्क के साथ आवेदन जमा करने की तिथि बढ़ाई जाती है?
उत्तर - नहीं, विश्वविद्यालय द्वारा विलम्ब शुल्क के साथ आवेदन जमा करने की तिथि नहीं बढ़ायी जाती है। कोई विलम्ब शुल्क नहीं लिया जाता है। अभ्यर्थी सुनिश्चित करें कि उनका आवदेन निर्धारित तिथि तक विश्वविद्यालय में जमा हो जाए। इस बात का ध्यान रखा जाए कि आवेदन पूर्ण रूप से भरा हो। अपूर्ण, अवैध आवदेन या अंतिम तिथि के बाद आवेदनों को अस्वीकार कर दिया जाएगा तथा शुल्क को वापस नहीं लौटाया जाएगा। विश्वविद्यालय इस सम्बन्ध में किसी भी तरह का पत्राचार नहीं करेगा।
8 - मुझे अपना परिचय पत्र प्राप्त नहीं हुआ है/भेजा गया परिचय पत्र मेरा नहीं है /परिचय पत्र में मेरा नाम है परन्तु फोटो किसी और का है , मैं क्या करूँ?
उत्तर - परिचय पत्र प्राप्त नहीं होने की स्थिति में विद्यार्थियों को यह सलाह दी जाती है कि वह रु.10- के मांग पत्र (डीडी) , अपना एक नवीनतम फोटो आवेदन पत्र के साथ संलग्न कर कुलसचिव, महात्मा गांधी अन्तरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय,वर्धा को परिचय पत्र की प्रतिलिपि के लिए प्रेषित करें। परिचय पत्र की प्रतिलिपि विद्यार्थियों को डाक द्वारा भेजी जाएगी। परिचय पत्र में नाम/ फोटो में त्रुटि की दशा में अभ्यर्थी अपना मूल परिचय पत्र आवेदन के साथ वापस कर सकता है। इस आवेदन में सही नाम/फोटो का जिक्र किया जाना चाहिए। विश्वविद्यालय इस सम्बन्ध में अपने रिकार्ड की छानबीन के उपरान्त सही परिचय पत्र अभ्यर्थी को डाक द्वारा भेज देगा।
9 - क्या मैं पाठ्यक्रम बदल सकता हूँ ?
उत्तर - हाँ, यदि आप चाहे तो। लेकिन यह सुविधा पूरे नामांकन के दौरान केवल एक बार ही प्रदान की जाएगी तथा इस सन्दर्भ का आवेदन पाठ्यक्रम में नामांकन के एक माह के भीतर देना होगा। यह लिखित आवेदन कुलसचिव, महात्मा गांधी अन्तरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय,वर्धा -442001 (महाराष्ट्र) के नाम से प्रेषित किया जाना चाहिए।
10 - क्या विश्वविद्यालय स्थानान्तरण प्रमाण पत्र जारी करता है?
उत्तर - नहीं।
11 - मैं अपना बोनाफाईड एवं प्रवजन प्रमाण पत्र कैसे प्राप्त कर सकता हूँ?
उत्तर - बोनाफाईड एवं प्रवजन प्रमाण पत्र विद्यार्थी द्वारा आवेदन तथा निर्धारित शुल्क जमा कराने के उपरान्त जारी किया जाता है।
12 - एम.ए. स्त्री-अध्ययन की प्रवेश परीक्षा में किन- किन बिन्दुओं के बारे में पूछा जाता है?
Ans. उत्तर - स्वास्थ्य, मीडिया,कानून,आर्थिक एवं राजनैतिक भागीदारी एवं साहित्य से जुडे़ महिला मुद्दों से सम्बन्धित सामान्य प्रश्न।
13 - एम.ए. अनुवाद प्रौद्योगिकी की प्रवेश परीक्षा में किन- किन बिन्दुओं के बारे में पूछा जाता है?
उत्तर - सामान्य ज्ञान, हिंदी - अंग्रेजी भाषा एवं अनुवाद ।
14 - एम.ए. अहिंसा एवं शांति अध्ययन की प्रवेश परीक्षा में किन- किन बिन्दुओं के बारे में पूछा जाता है?
उत्तर - अहिंसा,शांति,गाँधी और अन्य गाँधीवादी विचार से सम्बन्धित प्रश्न ।
15 - एम.ए. तुलनात्मक साहित्य की प्रवेश परीक्षा में किन- किन बिन्दुओं के बारे में पूछा जाता है?
उत्तर - हिंदी भाषा, साहित्येतिहास, काव्य ।
16 - एम.ए. भाषा प्रौद्योगिकी की प्रवेश परीक्षा में किन- किन बिन्दुओं के बारे में पूछा जाता है?
उत्तर - भाषा प्रौद्योगिकी, भाषाविज्ञान, संगणकीय भाषाविज्ञान, प्रयोजनमूलक भाषाविज्ञान ।
17 - एम.ए. जनसंचार माध्यम एवं सम्प्रेषण की प्रवेश परीक्षा में किन- किन बिन्दुओं के बारे में पूछा जाता है?
उत्तर - मुद्रण एवं इलेक्ट्रोनिक मीडिया का इतिहास एवं समकालीन मुद्दे ।
18- उपरोक्त पाठ्यक्रमों में प्रवेश अर्हता क्या है ?
उत्तर - स्नातक स्तर में सामान्य एवं अपिव वर्ग हेतु 40 प्रतिशत एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति हेतु 35 प्रतिशत अंक ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें