मंगलवार, 17 अप्रैल 2012

संवेदनशीलता के बिना पत्रकारिता संभव नहीं



MONDAY, 16 APRIL 2012 16:38
WRITTEN BY MK NEWS
E-mailPrintPDF
भोपाल, 16 अप्रैल। वरिष्ठ पत्रकार उमेश उपाध्याय का कहना है कि संवेदनशीलता के बिना पत्रकारिता संभव नहीं है। एक पत्रकार की दृष्टि संपन्नता और संवेदनशीलता ही उसको प्रामणिकता प्रदान करती है। वे यहां माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल के इलेक्ट्रानिक मीडिया विभाग द्वारा आयोजित व्याख्यान को संबोधित कर रहे थे। 

श्री उपाध्याय ने कहा कि नए पत्रकारों को घटनाओं को देखने और बरतने का तरीका बदलना होगा। आज जब दुनिया में पत्रकारिता के अंत की बातें हो रही हैं तो हमें अपनी मीडिया को ज्यादा सरोकारी और जवाबदेह बनाना होगा। संवेदना, वैल्यू एडीशन और नजरिया ही किसी भी पत्रकारीय लेखन की सफलता है। उन्होंने दुख जताते हुए कहा कि मीडिया को आज लोग सत्ता प्रतिष्ठान का हिस्सा मानने लगे हैं, यह धारणा बदलने की जरूरत है। टेलीविजन में नकारात्मक संवेदनाएं बेचने पर जोर है, जिससे इस माध्यम को लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। 

उनका कहना था कि पत्रकारिता 20-20 का मैच नहीं है, यह दरअसल टेस्ट मैच है, जिसमें आपको लंबा खेलना होता है। धैर्य, समर्पण और सतत लगे रहने से ही एक पत्रकार अपना मुकाम हासिल करता है। आज इस दौर में जब शब्द महत्व खो रहे हैं तो 

हमें शब्दों की बादशाहत बनाए रखने के लिए प्रयास करने होंगें। कार्यक्रम के प्रारंभ में जनसंचार विभाग के अध्यक्ष संजय द्विवेदी और डा. मोनिका वर्मा ने श्री उपाध्याय का स्वागत किया। संचालन प्रो. आशीष जोशी ने किया।
MONDAY, 16 APRIL 2012 23:22
WRITTEN BY MK NEWS
E-mailPrintPDF
deepak chaurasiaजी हाँ, जल्द ही स्टार न्यूज़ के प्रख्यात एंकर और पत्रकार दीपक चौरसिया यही कहते नज़र आयेंगे. आप सोंचेगे यह कोई मजाक है. लेकिन न तो यह कोई मजाक है और न कोई गॉसिप. कुछ दिनों बाद से ही दीपक चौरसिया ऐसा कहते हुए टेलीविजन स्क्रीन पर नज़र आयेंगे और दीपक ही क्यों स्टार न्यूज़ के किशोर आजवाणी, अंजना कश्यप, सिद्धार्थ शर्मा, स्टार एंकर श्रीवर्धन और स्टार न्यूज़ के तमाम पत्रकार भी कुछ ऐसा ही कहते नज़र आयेंगे. 

आपको याद होगा कि कुछ दिनों पहले मीडिया खबर पर हमने एक खबर लगायी थी जिसमें बताया गया था कि आनंद बाजार पत्रिका और स्टार समूह के बीच संपादकीय और अन्य रणनीतिक मसलों को लेकर मतभेद गहराता जा रहा है. यही वजह है कि आनंद बाजार पत्रिका ने रूपर्ट मर्डोक के नियंत्रण वाले स्टार समूह से नाता तोडऩे का इरादा कर लिया है. अब वह खबर सच साबित हुई और आज आधिकारिक रूप से इसकी घोषणा कर दी गयी.

स्टार न्यूज़ द्वारा जारी विज्ञापन के मुताबिक स्टार न्यूज़ अब एबीपी न्यूज़ के नाम से जाना जाएगा. स्टार न्यूज़ की विज्ञप्ति के अनुसार तीन लोकप्रिय समाचार चैनलों का प्रसारण करने वाली मीडिया कंटेंट ऐंड कम्युनिकेशंस सर्विसेज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड यानी एमसीसीएस का अब स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से गठबंधन खत्म हो रहा है. 

एमसीसीएस के एलान के मुताबिक 24 घंटे के तीनों समाचार चैनल स्टार न्यूज अब एबीपी न्यूज़, स्टार माझा अब एबीपी माझा और स्टार आनंद अब एबीपी आनंद के नाम से जाने जाएंगे.

ग़ौरतलब है कि एमसीसीएस, आनंद बाज़ार पत्रिका और स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का संयुक्त उद्यम है, जो अब केवल आनंद बाज़ार पत्रिका की सहायक कंपनी के तौर पर काम करेगी.

हालांकि, इस एलान का चैनल के दर्शकों, ग्राहकों, वितरकों और कर्मचारियों पर कोई असर नहीं पड़ने जा रहा है. चैनल की रुपरेखा और समाचार परोसने की शैली में कोई परिवर्तन नहीं होगा. 

चूंकि चैनल के नाम बदल रहे हैं, ऐसे में इनके लोगो बदलना लाज़िमी है, लेकिन इनके एंकर्स, रिपोर्टर्स और प्रोड्यूसर जस के तस बने रहेंगे. यानी न चेहरा बदलेगा और ना ही खबरों के पेश करने का तरीका, सब पहले ही जैसा होगा.

एमसीसीएम के प्रमुख शेयरधारक स्टार इंडिया और आनंद बाज़ार पत्रिका, स्टार ब्रांड से अलग होने पर सहमत हुए. जहां स्टार का इरादा जनरल इंटरटेंमेंट पर अधिक ज़ोर देने का है, वहीं एबीपी का असल फोक्स न्यूज़ है. एबीपी की कोशिश है कि वह अपनी सहायक कंपनी एमसीसीएस की मदद से अपने ही ब्रांड को स्थापित करे और उसे प्रमोट करे.

एमसीसीएस की ओर से जारी प्रेस रीलीज़ में कहा गया है कि दोनों कंपनियों का रिश्ता करीब आठ साल रहा और इस गठजोड़ से दोनों को फायदा पहुंचा. इन आठ सालों में तीन न्यूज़ चैनल बाज़ार में अपनी सम्मानजनक जगह और पहचान बनाने में कामयाब हुए, जिससे एमसीसीएस ब्रॉडकास्ट न्यूज़ की दुनिया में एक सम्मानित और मज़बूत कंपनी के तौर पर उभरी.

एमसीसीएस का दावा है कि इसके संसाधनों में गुणवत्ता से परिपूर्ण कर्मचारी हैं, जिन्होंने वफादार दर्शकों, ग्राहकों और वितरकों के बीच अच्छी इक्विटी बनाई है. 

एमसीसीएस के मुताबिक तीनों समाचार चैनलों के कंटेंट कुछ बेहतरीन संपादकों, पत्रकारों, एंकर्स और तकनीकी पेशेवरों के जरिए तैयार किया जाता रहा है, जिन्होंने हमेशा गुणवत्ता के उच्च मानकों को बनाए रखा और वे अब भी उस गुणवत्ता के उच्च मानकों को बनाए रखेंगे.

जारी की गयी प्रेस विज्ञप्ति 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें