रविवार, 4 मार्च 2012

पत्रकारिता सीबीएसई के पाठ्यक्रम में शामिल



भारत में पत्रकारिता विषय को काफी गंभीरता से लिया जाने लगा है।अपने एक फैसले के तहत केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है कि अब यह विषय बच्चों स्कूली स्तर से ही पढायी जाए ताकि उनमें कम्यूनिकेशन का स्तर शुरूआत से ही बेहतर हो ।और वर्तमान मीडिया एवं इसके फैलते बाजार की समझ बेहतर बने।
सीबीएसई ने देश भर के स्कूलों में मीडिया स्टडीज को नये सत्र सत्र से पाठ्यक्रम में शामिल करने की तैयारी कर चुका है ।अब छात्र एक वैकल्पिक विषय के रूप में इसे ले सकते हैं।सीबीएसई के स्कूलों के लिए एनसीआरटी किताब को तैयार किया है
11वी 12 वीं से ही छात्रों को मास कम्यूनिकेशन की शिक्षा देने के उद्देश्य से यह फैसला लिया गया है।सूत्रों के अनुसार सीबीएसई का इस बारे में ठोस राय है कि उदारीकरण के दौर में छात्रों के अंदर बेहतर कम्यूनिकेशन स्किल विकसित करने के लिहाज से बेहतर कदम होगा ।इससे छात्रों में मीडिया की समझ बेहतर होगी।
एनसीआरटी ने पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए एक टीम का गठन किया ।एनसीआरटी ने विशेषज्ञों के सहयोग से देश भर के स्कूलों से पांच महीने का फिडबैक लिया फिर उसके आधार पर कोर्स तैयार किया ।
कोर्स को पांच भागों मे बांटा गया है वो है मीडिया कम्यूनिकेशन, अंडरस्डैंगि ऑफ मास कम्यूनिकेशन,एडवरटाईजिंग एंज पब्लिकरिलेशन, फोक मीडिया और मीडीया रोल इन ग्लोबलाइजेशन।
इस कोर्स को मीडिया के शिक्षण कार्य से जुड़े वरिष्ठ लोगों से लिखवाया गया है।इसमें प्रमुख है वीके कुठियाल, वर्तिका नंदा ,एव जयश्री जेठानी।
इस कोर्स के शामिल हो जाने से निश्चित रूप से छात्रों का झुकाव मीडिया की तरफ होगा।और भविष्य में देश को बेहतर पत्रकार मिल सकता है।

Last 5 posts by डेस्क

Short URL: http://www.janatantra.com/news/?p=19496

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें