रविवार, 15 जनवरी 2012

इलेक्ट्रानिक मीडिया पर कार्यशाला / पत्रकारिता के सामने-साख का संकट




सह-सरकार्यवाह, रा.स्व.संघ
विगत 5-7 दिसम्बर को लखनऊ (उ.प्र.) के विश्व संवाद केन्द्र परिसर में संपन्न हुई तीन दिवसीय राष्ट्रीय इलेक्ट्रानिक मीडिया कार्यशाला जहां नवोदित पत्रकारों के लिए शिक्षण और प्रशिक्षण का माध्यम बनी, वहीं राष्ट्रीय स्तर पर पत्रकारिता की दिशा और दशा पर गंभीर मंथन का मंच भी बनी।
कार्यशाला में पहले दिन उद्घाटन कार्यक्रम और कई सत्रों में पत्रकारिता और समाज जीवन से जुड़े कार्यकर्ताओं ने मीडिया के दायित्वों और सीमाओं को रेखांकित करने का विनƒा प्रयास किया। उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्य रूप से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह-सरकार्यवाह श्री सुरेश सोनी, सहारा चैनल के उत्तर प्रदेश-उत्तरांचल के इनपुट हेड श्री सुशील सिंह, लखनऊ के वरिष्ठ अधिवक्ता श्री एस.के. कालिया, महाराणा प्रताप ग्रुप आफ एजुकेशन के सचिव श्री शैलेंद्र भदौरिया ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर श्री सोनी ने मीडिया में आए संक्रमण पर चर्चा करते हुए कहा कि आज पत्रकारिता के सामने अपनी साख बचाने का संकट खड़ा है। इस तरह के संक्रमण के दौर से निकलने का रास्ता उसे स्वयं ही तलाशना होगा। उन्होंने कहा कि बाजारवाद और पूंजी के बढ़ते प्रभाव ने जैसे समाज जीवन को प्रभावित किया है, वैसे ही उससे पत्रकारिता भी प्रभावित हुई है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अपनी विश्वसनीयता कायम रखने से ही पत्रकारिता इनके दुष्प्रभावों से मुक्त हो सकती है।
उन्होंने कहा कि एक समय पर पंजाब में आतंकवाद अपने चरम पर था। उस समय "पंजाब केसरी" समाचार पत्र के लाला जगत नारायण ने अपने पत्र के माध्यम से लड़ाई लड़ी, वे आतंकियों की गोली का शिकार हुए, लेकिन उनका पत्र अपनी लड़ाई में पीछे नहीं हटा। उनके संघर्ष को आज भी पत्रकारिता जगत में याद किया जा रहा है। श्री सोनी ने कहा कि आज बेहद जरूरी है कि पत्रकारिता अपना मानदंड तय करे। उसे समर्थन की सीमा और विरोध की मर्यादा तय करनी होगी। वह भी बिना राग-द्वेष के, आदि पत्रकार कहे जाने वाले "नारद" की तरह। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक सर्वश्री ओम प्रकाश, अशोक बेरी, शिव नारायण, कृपाशंकर, अमरनाथ के अलावा प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष सूर्यप्रताप शाही, वरिष्ठ स्तंभकार ह्मदय नारायण दीक्षित, लखनऊ के महापौर दिनेश शर्मा सहित बड़ी संख्या में नवोदित पत्रकार उपस्थित थे। तीन दिन तक चली इस कार्यशाला में मुख्य रूप से महामना मदनमोहन मालवीय पत्रकारिता संस्थान विद्यापीठ में विभागाध्यक्ष प्रो. ओम प्रकाश सिंह, माखन लाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. बृजकिशोर कुठियाला, महुआ न्यूज चैनल के उत्तर प्रदेश के प्रमुख कुमार सौवीर, दैनिक जागरण (लखनऊ) में वरिष्ठ पत्रकार श्री सुभाष सिंह आदि ने पिं्रट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया और साइबर मीडिया के विविध आयामों पर नवोदित पत्रकारों का मार्गदर्शन किया।द शशि सिंह

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें